कलेक्टर ने 13 डॉक्टरों को कर्तव्य स्थल पर लम्बे समय से अनुपस्थित होने पर शोकॉज नोटिस जारी किया

महावीर अग्रवाल
मंदसौर 4 मई ;अभी तक;  कलेक्टर श्री मनोज पुष्प ने जिले के 13 डॉक्टरों को अपने कर्तव्य स्थल पर लम्बे समय से अनुपस्थित होने पर कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया गया है।
*यह डॉक्टर्स लंबे समय से है अनुपस्थित*
कलेक्टर के द्वारा जिन डॉक्टर्स को शोकॉज नोटिस जारी किया गया है, उनमें डॉ. प्रिया वर्मा, डॉ. राजेश वास्केल, डॉ. विशाल बाल्मीकि, डॉ. शैलेंद्र पाटीदार, डॉ. नवीन गुप्ता, डॉ. अंकुर जैन, डॉ. दीपक अग्रवाल, डॉ. विशाल गौड़, डॉ. अर्पित पोरवाल, डॉ. कपिल देव शर्मा, डॉ. सौरभ मंडवारिया, डॉ. अतुल जैन, डॉ. एंजलीना भाटी शामिल है। ये सभी डॉक्टर्स बहुत लंबी अवधि से अपने कर्तव्यस्थल से अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित हैं। इनके अनुपस्थित रहने के कारण आम जन को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध नहीं होकर अप्रिय स्थिति निर्मित हो रही हैं।
वर्तमान में आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के अन्तर्गत कोरोना वायरस संक्रमण को वैश्विक महामारी घोषित किया गया हैं, मन्दसौर जिले में लोक स्वास्थ्य एवं लोकहित में नोवेल कोराना वायरस (COVID-19) व उससे जनित बीमारी के संभावित खतरे की रोकथाम एवं बचाव करने के उद्देश्य से इन सभी डॉक्टर्स को निर्देशित किया गया हैं, कि सभी तत्काल अपने पदस्थापना स्थल पर उपस्थित होकर चिकित्सकीय कार्य सम्पादित करें।
आगामी 03 दिवस में अपने कर्तव्यस्थल पर उपस्थित नहीं होने की स्थिति में वर्तमान प्रभावशील भारतीय दण्ड संहिता 1973 की धारा 188 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51-60 के अंतर्गत व महामारी रोग अधिनियम 1987 के तहत एवं मध्य प्रदेश शासन गृह विभाग मंत्रालय वल्लभ भवन भोपाल के आदेश से प्रदेश में एस्मा प्रभावशील हो गया है। प्रभावशील होने से चिकित्सकीय पंजीयन रद्द करने की कार्यवाही के साथ ही वर्तमान में प्रभावशील सुसंगत नियमों के तहत विधिक कार्यवाही संस्थीत कर इनके विरूद्व प्रकरण पंजीबद्ध किया जावेगा। इसके लिए ये सभी स्वयं जिम्मेदार रहेंगे।