कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन में भाजपा को उखाड़ फेंकने का संकल्प

मयंक  शर्मा

खंडवा 21 अक्टूबर ; अभी तक ; आज खंडवा  श हर के उत्तर, दक्षिण, पष्चिम ब्लाक/सेक्टर/मंडलम/पन्ना प्रभारियों/पदाधिकारियों की संयुक्त बैठक/कार्यकर्ता सम्मेलन में कांग्रेस नेताओं ने एकजुट होकर एक स्वर में भाजपा को उखाड़ फेंकने का संकल्प लिया।
मौजूद सभी नेताओं ने खंडवा के काले अध्याय को समाप्त करने के लिए भारतीय जनता पार्टी को सबक सिखाने का भी निर्णय लिया।

इंदौर रोड स्थित सिसोदिया रिसोर्ट में हुए इस महत्वपूर्ण सम्मेलन में अभा कांग्रेस के प्रभारी सचिव कुलदीप इंदौरा, पूर्व केंद्रीय मंत्री व प्रदेष कांग्रेस अध्यक्ष अरूण यादव, पूर्व मंत्री व चुनाव प्रभारी मुकेष नायक, पूर्व मंत्री व विधायक पीसी षर्मा, जिला/षहर अध्यक्ष इंदलसिंह पवार, ओंकार पटेल, उत्तमपाल सिंह, डॉ. मुनीष मिश्रा, वीरेंद्र मिश्रा(बल्ली भैया), प्रतिभा रघुवंषी, अजय ओझा, अषोक पटेल, रियाज हुसैन, अवधेष सिसोदिया, कुंदन मालवीया, इषिता सेडा, सदाषिव भंवरिया, रचना तिवारी, अजीज मदनी, अर्ष पाठक, आलोक रावत, सुनील सकरगाये, विकास व्यास, आसिम पटेल, इकबाल कुरैषी, अहमद पटेल, षहजाद पंवार, हेमलता पालीवाल, यषवंत सिलावट, मोहन ढाकसे, रणधीर कैथवास व डॉ. चैनसिंह सहित अनेकों पार्टी नेता मौजूद थे।

वक्ताओं के रूप में विभिन्न नेताओं ने अपने संबोधन में देष के मौजूदा हालातों से लेकर प्रदेष व स्थानीय स्तर की समस्याओं और कठिनाइयों की चर्चा करते हुए कहा कि पूरा देष प्रदेष में बिगडती कानून व्यवस्था, बढते आतंकवाद, किसान आंदोलन, बेरोजगारी, महंगाई, पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस की कीमतों, दलितों, आदिवासियों पर बढते अत्याचार, बलात्कार, गैंगरेप आदि समस्याओं व घटनाओं से हलाकान है। पीएम-सीएम इनसे इतर आंखे मूंदे बैठकर झूठ परोसने के माध्यम से देष प्रदेष को गुमराह कर रहे है। अघोषित आपातकाल के माध्यम से नागरिकों, कर्मचारियों, अधिकारियों में भय व्याप्त है। सर्वत्र अंधेरा परोसा जा रहा है। आज वक्त का तकाजा है कि हमारी खामोषी कही नासूर ना बन जाये, इसीलिए हमंे आक्रामक होकर जनता की आवाज बनना होगा। बैठक में उन्होंने कांग्रेस प्रत्याषी श्री राजनारायण सिंह के हाथ मजबूत करने की अपील करते हुए कहा कि षहर के जागरूक मतदाता 17 साल के काले अध्याय को अपने मतदान के माध्यम से समाप्त करने हेतु आगे आयें।

नेताओं ने खंडवा की स्थानीय गंभीर समस्याओं पर भी खुलकर चर्चा की और संकल्प लिया कि इस मर्तबा अंधकार में डूबोने वाली भाजपा के काले अध्याय को समाप्त करके ही दम लेंगे। सम्मेलन में लगभग दो हजार से अधिक कार्यकर्ता उपस्थित थे।