कांग्रेस नेता  की धमकी, पार्षदाें काे उंगली भी लगाई ताे हाथ काट देंगे

8:31 pm or August 2, 2022

देवेश शर्मा 

मुरैना 2 अगस्त ;अभी तक; कांग्रेस के वरिष्ठ नेताएवम पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष वृंदावन सिंह सिकरवार ने धमकाने के अंदाज में राज्य सरकार को चेलेंज किया। उन्होंने एक स्थानीय होटल में पत्रकारवार्ता आयोजित कर  कहा कि राज्य की भाजपा सरकार ने जिला व जनपद पंचायतों में गड़बड़ी करके व पुलिस का सहारा लेकर अध्यक्ष बना लिए हैं। अब नगर निगम के सभापति चुनाव में भी वैसा ही करने की मंशा है। उन्होंने कहा कि प्रशासन साफ सुन ले, यदि कांग्रेस या समर्थित पार्षदों को उंगली भी लगाई तो हम हाथ काट देंगे। इस बार हम चुप नहीं बैठेंगे, इतिहास बदल देंगें।

कांग्रेस नेता सिकरवार ने साफ शब्दों में अधिकारियों को भी चेताया. उन्होंने कहा कि सरकारें आती जाती रहती हैं, लेकिन जिस तरह प्रशासन भाजपा के एजेंट की तरह काम कर रहा है, वह स्थिति ठीक नहीं है। प्रेसवार्ता मेें मुरैना विधायक व कांग्रेस जिला अध्यक्ष राकेश मावई ने भी राज्य सरकार पर प्रहार किए. उन्होंने कहा कि मप्र सरकार, यूपी की तर्ज पर पुलिस का सहारा लेकर चुनाव करवाने लगी है। जीते हुए जनप्रतिनिधियों को डरा-धमकाकर, उन पर एफआइआर दर्ज करके या फिर उनका अपहरण करके वोट डलवाए जा रहे हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि श्योपुर के जिला पंचायत सदस्यों को मुरैना के पांच थाना प्रभारियों ने अपहरण करके भाजपा को सौंपा था। उन्होंने इस मामले में सीबीआइ जांच की मांग को लेकर कोर्ट जाने की भी बात कही। उन्होंने चेताया कि अगर भाजपा के साथ मिलकर पुलिस या जिला प्रशासन ने 5 अगस्त को सभापति चुनाव में यह गलती की तो इसके परिणाम बहुत बुरे होंगे। उन्होंने कहा कि यह उत्तर प्रदेश या भोपाल नहीं, मुरैना है। कलेक्टर-एसपी सुन लें, गड़बड़ी की या स्वच्छ चुनाव में बाधा डाली तो शहर में महायुद्ध होगा, जिसका जिम्मेदार प्रशासन होगा।

 कांग्रेस के सभापति उम्मीदवार राजा डंडोतिया ने कहा कि हमारे पास 47 में से 31 पार्षदों का पूर्ण समर्थन है। इससे भाजपा बौखलाई हुई है और वह कुछ पार्षदों पर एफआइआर दर्ज कराने से लेकर अन्य प्रकार के हथकंडे अपना सकती है।