किशोर, किशोरियों में होने वाले बदलाव पर की चर्चा, जिले के सभी ब्लाकों में मनाया गया माहवारी स्वच्छता दिवस

11:09 pm or May 28, 2022

प्रहलाद कछवाहा

मंडला २८ मई ;अभी तक;  राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत जिले के सभी ब्लाकों में कार्यरत मास्टर ट्रेनरों द्वारा सपोटिव सुपर विजन के दौरान साथिया और किशोर, किशोरियों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया जा रहा है। इसी के अंतर्गत जिले के सभी ब्लाकों में माहवारी स्वच्छता दिवस कार्यक्रम आयोजित किया गया। विकासखंड नारायणगंज के ग्राम मलारा व पदमी में आयोजित कार्यक्रम में मास्टर ट्रेनर इंद्रा उइके, दुर्गेश द्वारा ग्राम की महिलाएं, किशोरी बालिका, आशा कार्यकर्ता समेत अन्य लोग की मौजूद रहे। माहवारी स्वच्छता दिवस कार्यक्रम के अंतर्गत  कार्यक्रम में ग्राम की किशोरियां, महिलाएं मौजूद रही। कार्यक्रम में उपस्थित किशोरी और महिलाओं को राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम की जानकारी दी गई।  जिसमें उन्हे स्वास्थ्य संबंधित जानकारी से अवगत गया।

                        माहवारी स्वच्छता एवं प्रबंधन दिवस पर ब्लाक नारायणगंज में ड्राइंग, बैनर, रंगोली के माध्यम से किशोरी एवं महिलाओं को महावारी चक्र एवं महावारी स्वच्छता पर चर्चा की गई। जिसके बाद एक जागरूकता रैली ग्राम में निकाली गई। रैली में ग्राम की महिला, आशा, सचिव एवं ग्राम तदर्थ समिति के सदस्य उपस्थित रहे। कार्यक्रम में उपस्थित किशोरों को उमंग स्वास्थ केन्द्र, साथिया हेल्पलाइन नंबर 104 की जानकारी दी गई। आयोजित कार्यक्रम में आरकेएसके के साथिया, किशोर, किशोरी, गर्भवती, धात्री माताएं, महिलाएं, पुरुष एवं आंगनवाड़ी, आशा कार्यकर्ताओं, स्वछताग्राही को ड्राइंग पर माहवारी चक्र, रंगोली से मासिक धर्म, कंगन के माध्यम से मासिक धर्म चक्र को समझाया गया। मासिक धर्म के दौरान बरती जाने वाली सावधानियां एवं इससे संबंधित गलत धारणाएं, भ्रांतियां पर चर्चा करते हुए इन्हें दूर करने के लिए प्रेरित किया गया।

साफ-सफाई का रखें ध्यान :

                       आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित किशोरी और महिलाओं को माहवारी स्वच्छता प्रबंधन की जानकारी और किशोरियों में होने वाले शारीरिक बदलाव में मुख्य बदलाव माहवारी का आना बताया गया। जिसको को उपस्थित किशोरियों को विस्तार से बताया  और समझाया गया। जिसके बाद उन्हें माहवारी चक्र को विस्तार से बताया गया। उन्हें माहवारी चक्र के उन पूरे दिनों की जानकारी दी गई। उनसे कहा गया कि माहवारी के दौरान साफ – सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए। इसके साथ इस दौरान उपयोग किये जाने वाली सेनेटरी नेपकीन और कपड़े के उपयोग और निपटान के सही तरीके बताए गए।

सकारात्मक व जिम्मेदारी से परिवर्तनों को स्वीकार करें :

आयोजित कार्यक्रम में किशोरावस्था में बदलाव पर विस्तार से उपस्थित किशोरी, महिलाओं को बताया गया। जिसमें बताया गया कि महिलाओं और पुरूषों में कुछ परिवर्तन एक समान होते है और कुछ प्रमुख परिवर्तन अलग-अलग होते है। उन्हें बताया कि जब हम बढ़ते है तो हम अपने जीवन में बहुत सारे परिवर्तन का अनुभव करते है। यह परिवर्तन रोमांचक, अच्छे, डरावने या दर्दनाक हो सकते है। कभी-कभी हम अपने जीवन में होने वाले परिवर्तन को प्रभावित कर सकते है और कभी उन पर हमारा नियंत्रण बहुत कम होता है। इसलिये उन परिवर्तनों को वैसे ही स्वीकार करने की आवश्यकता होती है। हमारे जीवन में कुछ परिवर्तनों का अनुमान लगाया जा सकता है, यदि हम उनके लिए पहले से तैयार रहे और उन परिवर्तनों का प्रबंधन अच्छी तरह से कर सकते है। जैसे-वृद्धि और परिपक्वता सतत प्रक्रिया है तथा किशोरावस्था जीवन काल में वृद्धि एवं विकास की निरंतरता की अवस्था है। किशोर किशोरियों से कहा गया कि शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक सामाजिक परिवर्तनों के लिए हमेशा तैयार रहने की आवश्यकता है जो इस अवधि में होते है। जिससे इन परिवर्तनों से वे परेशान न हो और सकारात्मक व जिम्मेदारी से इन परिवर्तनों को स्वीकार करें।

निवारी आंगनवाडी में कार्यक्रम आयोजित :

विकासखण्ड नैनपुर के आंगनवाडी केन्द्र निवारी में माहवारी स्वच्छता एवं प्रबंधन दिवस आयोजित किया गया। जिसमें राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के साथिया, किशोर, किशोरी, गर्भवती, धात्री माताएं, महिलाएं, पुरुष एवं आंगनवाड़ी, आशा कार्यकर्ताओं, स्वच्छताग्राही  को ड्राइंग पर माहवारी चक्र, रंगोली से मासिक धर्म कंगन के माध्यम से मासिक धर्म चक्र के संबंध में जानकारी दी गई। मासिक धर्म के दौरान बरती जाने वाली सावधानियां एवं इससे संबंधित गलत धारणाएं, भ्रांतियां पर चर्चा करते हुए इन्हें दूर करने हेतु समुदाय को प्रेरित किया गया। इस अवसर पर न्यू विजन सोसाइटी, यूनिसेफ से सुभाष बंसकार, आरकेएसके से मास्टर ट्रेनर हेमकरन भावरे उपस्थित रहे।
—————————–