किसानों ने बेसहारा गायों को लेकर अनोखा प्रदर्शन किया

रवि शर्मा

भिंड ११  जनवरी ;अभी तक;  भिंड के अकोड़ा नगर परिषद में किसानों ने बेसहारा गायों को लेकर एक अनोखा प्रदर्शन किया। बेसहारा गायों से फसलों को होने वाले नुकसान को बचाने के लिए क्षेत्र के किसान एकजुट हुए। वे, बंद गौशाला को शुरू करने की मांग को लेकर गायों को खदेड़ते हुए नगर पंचायत भवन पहुंचे। यहां उन्होंने गायों को नगर परिषद भवन परिसर में बंद कर दिया और बाहर से ताला डाल दिया। इस विरोध को देख प्रशासनिक अफसरों के हाथ पैर फूल गए। इसके बाद तत्काल महीनों से बंद गौशाला को शुरू कराया गया।

क्षेत्र में लंबे समय से किसानों, आवारा गायों से फसल को बचाने की समस्या से जूझते आ रहे है। नगर पंचायत अकोड़ा में शासन की ओर से गौशाला का निर्माण कराया गया था। इस गौशाला भवन पर ताला जड़ा हुआ था। गायों के रखने के लिए भूसा आदि की कोई व्यवस्था नहीं थी। सोमवार को क्षेत्र के किसान एकजुट हुए। वे खेतों को फसल खा रही गायों को खदेड़ते हुए नगर पंचायत भवन लेकर पहुंचे। यहां उन्होंने गायों के झुंड़ों को नगर पंचायत भवन में खदेड़कर बंद कर दिया। बाहर से ताला जड़कर नगर पंचायत सीएमओ के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। किसान अपनी मांग पर अड़ गए कि बंद गौशाला चालू की जाए तभी मौके से हटेंगे। इस पर एसडीएम उदय सिंह सिकरवार, नगर पंचायत सीएमओ और थाना प्रभारी मौके पर आ गए। हालात को ठीक करने के लिए तत्काल बंद गौशाला को चालू करने का निर्णय लिया गया। सभी गायों को गौशाला में शिफ्ट कराई गई। इस पर गांव के कुछ लोगों ने गायों के खाने पीने के लिए पांच से छह दिन का भूसा आदि की व्यवस्था किए जाने का जिम्मा उठाया। वहीं, प्रशासनिक अफसरों ने गौशाला को विधिवत संचालित किए जाने का निर्णय लिया। इसके बाद किसानों का आक्रोश शांत हुआ।