केंद्रीय इस्पात मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते आदिवासी सम्मेलन में शामिल होने रायसेन पहुँचे

7:30 pm or September 4, 2020
केंद्रीय इस्पात मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते आदिवासी सम्मेलन में शामिल होने रायसेन पहुँचे
दीपक कांकर
रायसेन 04 सितंबर ;अभी तक;  केंद्रीय इस्पात मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते आदिवासी सम्मेलन में शामिल होने आज रायसेन पहुँचे यहां उन्होंने डॉ गौरीशंकर शेजवार से उनके निवास स्थान बारला पहुँचकर मुलाकात की और कई अहम मुद्दों पर बात की।
-केंद्रीय इस्पात मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते आदिवासी सम्मेलन में शामिल होने रायसेन पहुंचे।
                      ग्राम बारला स्थित डॉ गौरीशंकर शेजवार के घर पर उनसे मुलाकात की और कई अहम मुद्दों पर दोनों के बीच बातचीत हुई। बहीं इस्पात मंत्री ने ग्राम सालेगढ़ के शिक्षक नीरज सक्सेना जो कि भारत सरकार के इस्पात मंत्रालय के ब्रांड एंबेसडर हैं उनसे भी मुलाकात की।कुलस्ते ने बताया कि अभी हमे सरकार बनाये हुए 14 महीने हुए है और अगर स्टील के क्षेत्र में देखे तो सन 2030 तक हमारा 300 मिलियन टन तक हमारा टारगेट है और दुनिया मे नंबर 2 पर भारत है।
                  बहीं स्क्रेप के मामले में बताया कि पहले स्क्रेप के मामले में कोई पालिसी नही थी अब हमने स्क्रेप को लेकर नई पालिसी लाये है जिसमे टेंडर टॉप बाले को दिया जाएगा अन्य टेंडर में सबसे कम बाले को दिया जाता है।कुलस्ते ने आगे कहा कि हमारा रेलवे की जो माँग है लक्ष्य है बो 13 मिलियन टन की है उसे पूरा कर रहे है और हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जैसा कहा कि आत्मनिर्भर भारत बनाना है हम उसी तरफ आगे बढ़ रहे है और जो बहुत ही जरूरी सामान ही उसको छोड़कर सभी पर आयात पर पाबंदी लगा दी है।और अब सभी सामान को भारत मे ही बनाने की कोशिश कर रहे है। मध्य प्रदेश में रोजगार के और इस्पात मंत्रालय के लिए कई अवसर हैं। और मध्य प्रदेश में कई इकाइयां लाई जा सकती हैं। जिसमें हमारा प्रयास जारी है। और रायसेन में भी युवाओं को कई अबसर मिलेंगे हैं।वहीं उन्होंने डॉ गौरीशंकर शेजवार की भी जमकर तारीफ की और इस्पात मंत्री ने बताया कि आगे केंद्र सरकार की मध्यप्रदेश में कई योजनाएं आने वाली है जिसमें युवाओं को अवसर मिलेंगे वहीं कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए विधायकों के बारे में कुलस्ते ने कहा कि समय लगता है मगर सभी लोग पार्टी में घुल मिल जाएंगे।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *