केसीसी  भ्रस्टाचारी प्रबंधको पर अधिकारी मेहरबान, अग्रिम जमानत कराने  हाईकोर्ट का लगा रहे चक्कर

एस पी वर्मा
सिंगरौली २४ अक्टूबर ;अभी तक;   किसान क्रिडिट कार्ड के नाम पर लाखो रुपये घोटाला कर राशि की बंदरबांट करने वाले जिला सहकारी केन्दीय बैंक के दो शाखा प्रबंधको पर बैंक के जिम्मेदार अधिकारी मेहरबान है। घोटाले के आरोप में घिरे सेवानिवृत्त बैंक शाखा प्रबंधक जहां जेल में है तो वहीं दो बैंक प्रबंधक उच्च न्यायालय जबलपुर में अग्रिम जमानत के लिये भाग दौड़ कर रहे हैं। सीसीबी के महाप्रबंधक ने चुप्पी साधकर अनजान बने हुये है।
      गौरतलब हो कि वर्ष 2015-16 में जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक  सीधी शाखा देवसर के केसीसी घोटाला में शामिल तत्कालीन सेवानिवृत्त शाखा प्रबंधक सूर्यधर दुबे को पुलिस ने पिछले दिनो गिरफ्तार करते हुये जेल भेज दिया लेकिन आरोप है कि इसी अपराध में शामिल शाखा प्रबंधक ज्ञानबहादूर सिंह,उदयराज सिंह एवं अन्य कर्मचारियों की गिरफ्तारी अब तक नही हुयी है। सूत्रो के मुताबिक उक्त शाखा प्रबंधक व बैंक कर्मचारियों पर जिम्मेदार अधिकारियों का संरक्षण प्राप्त है। आरोप लगाया जा रहा है कि बैंको से नदारत शाखा प्रबंधक व कर्मचारियों के विरुद्ध बैंक के जिम्मेदार अधिकारी कोई कार्यवाही भी नही कर रहे हैं। सेवानिवृत्त शाखा प्रबंधक को गिरफ्तार कराकर बैंक के जिम्मेदार अधिकारी अपनी वाहवाही ले रहे हैं। जबकि केसीसी घोटाले में शामिल दो शाखा प्रबंधक व अन्य बैंक कर्मियो के प्रति जिम्मेदार अधिकारी बड़ा दिल दिखाते हुये कार्रवाही करने से परहेज कर रहे हंै। फिलहाल सीधी-सिंगरौली जिले में केसीसी के लाखो रूपये घोटाले में शामिल उक्त बैंक कर्मियों पर कार्रवाही न किये जाने को लेकर बैंक के जिम्मेदार अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर तरह-तरह की चर्चाएं हैं। साथ ही उनके दोहने मापदण्ड को लेकर सवाल भी खड़े किये जा रहे हैं।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *