कोरोना को भस्म करेगी पहाड़ी वाली माताजी  विश्व पर्यावरण दिवस पर देवडूंगरी माताजी क्षेत्र मनमोहक दार्शनिक स्थल बन रहा

9:22 pm or September 27, 2020
कोरोना को भस्म करेगी पहाड़ी वाली माताजी  विश्व पर्यावरण दिवस पर देवडूंगरी माताजी क्षेत्र मनमोहक दार्शनिक स्थल बन रहा

महावीर अग्रवाल

मंदसौर २७ सितम्बर ;अभी तक; शहरी क्षेत्र से मात्र 5 किलो मिटर की दुरी पर गुजरदा की हद में पहाडी पर विराजित देवडूंगरी माताजी जिसकी ख्याति दूर दूर तक फैली हुई है।

मध्यप्रदेश के मंदसौर जनपद की ग्राम पंचायत गुजरदा के सचिव तौफीक खां के अनुसार देव डूंगरी माताजी मंदिर एक चमत्कारीक स्थल है। पहाड़ी के निचे रेवास देवड़ा रोड़ से लगा हुआ जलाश्य जो की चमत्कारीक तालाब है। तालाब का नव सौन्दर्यकरण का कार्य पूर्ण होने पर यह दार्शनिक स्थल ओर अधिक मनमोहक पिकनिक स्पॉट बनेगा। राधेश्याम मारू पत्रकार  कल देवडूंगरी माताजी के दर्शन लाभ लेने के लिए 151 सीढ़ियों को चढ़ कर पहाड़ी पर स्थिति माँ दुर्गा काली जगदम्बे के आर्शीवाद प्राप्त करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ।

श्री मारू ने समस्त देशवासीयो  के स्वास्थ्य काॅमना करते हुए देवडूंगरी माता जी से मन्नत की है की कोरोना प्रकोप को रोकने के लिए इसे  भस्म करे पहाड़ी वाली माताजी। इसी उद्देश्य के साथ कल स्वयं सेवी संस्थाओ के प्रतिनिधियो द्वारा  27 सिंतबर को पर्यावरण क्षेत्र का भ्रमण कर इस वर्ष भी
प्रतिवर्षानुसार विश्व पर्यटन दिवस के रुप में मनाया गया। कोरोना काल के चलते हर वर्ष इसकी एक अलग थीम रही है क्यों मनाया जाता है विश्व पर्यटन दिवस? श्री मारू ने बताया की जन जीवन स्वस्थ्य और मस्त रहे इसके लिए इंसान को पर्यावरण प्रेमी होना चहिए। पर्यटन से रोजगार की संभावनाएं बढ़ती हैं। विश्व पर्यटन दिवस(ूवतसक जवनतपेउ कंल) लोगों में पर्यटन के प्रति जागरूकता लाने और अधिक से अधिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मनाया जाता है। पर्यटन से किसी भी देश को आर्थिक स्थिति को भी ऊपर ले जाने में मदद करता है

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *