कोरोना मृतकों क़ा अंतिम संस्कार करने वाले कर्मियों का मानदेय बढ़ाया जाए-श्री बंसल

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर २९ मई ;अभी तक;  कोरोना काल में कोरोना से मृतकों का अंतिम संस्कार करने वाले समाजसेवी सुनील बंसल ने एक वक्तव्य में कहा कि अस्पताल से लेकर मुक्तिधाम तक कोविड से मृतकों के शव उठा कर वाहन में रखना, मुक्तिधाम में उनका शव चिता पर लेटाना ,इस जोखिम भरी सेवा को अंजाम देने वाले नपा के करीब 40 कर्मचारी हैं जिनका नपा को तत्काल वेतन बढाना चाहिये।
              श्री बंसल ने बताया कि इन्हें बहुत ही कम वेतन मिलता है जबकि इनके भी घर परिवार हैं बीबी बच्चे हैं। मस्टर या कलेक्टर दर से मिलने वाला मानदेय इतना कम होता है कि एक परिवार का पालन पोषण इसमे नहीं होता। नगर की कई संस्थाएं व समाजसेवी व महिला सँगठन अंतिम संस्कार करने वाले इन कर्मचारियों के लिये सहयोग के लिये आगे आ रहे हैं किन्तु नपा को भी अपने ही मातहत इन कर्मचारियों का वेतन बढ़ाना चाहिये। ये वे कर्मचारी हैं जो कोरोना काल में अपनी जान की परवाह किये बिना मृतकों का अंतिम संस्कार कर रहे हैं इनके प्रति समाज की सहानुभूति व चिन्ताएं व्यक्त हो रही है पर नपा को ही इनकी चिन्ता नहीं है। श्री बंसल ने जनप्रतिनिधियों को भी इस दिशा में पत्र लिख कर आग्रह किया है।
बंसल की पहल पर सिटी स्कैन की दर हुई निर्धारित
                जिला चिकित्सालय में सिटी स्कैन मशीन लगने के बाद इसकी दर 2500 से 3000 रु तक वसूल की जा रही थी। समाजसेवी सुनील बंसल ने मीडिया के माद्यम से इस बात को प्रशासन तक पहुंचाया भी था। विगत दिनों सांसद सुधीर गुप्ता से श्री बंसल ने जिला चिकित्सालय परिसर में ही इस विषय में चर्चा की थी।
                श्री बंसल की पहल का असर हुआ है जिला चिकित्सालय में आम जनों के लिये सिटी स्कैन कराने की दर अब 1800 रु तय कर दी है। जबकि आयुष्मान व बीपीएल कार्ड धारकों व विधायक की अनुशंसा पर एपीएल कार्ड धारकों के लिये यह सुविधा निःशुल्क है।