कोरोना-19 महामारी से सहकारी संस्थाओं के तीन दिवंगत कर्मचारियों के परिवारजन को एक-एक लाख की आर्थिक सहायता राषि का भुगतान

महावीर अग्रवाल

मंदसौर ४ मई ;अभी तक;  कोरोना-19 वायरस के कारण पूरे देश में एक और तबाही मची हुई है। वही सहकारी संस्थाओं के कर्मचारी अपनी जान हथेली पर लेकर शासन की विभिन्न योजनाओं , समर्थन मूल्य पर गेहॅू खरीदी, उपभोक्ता सामग्री वितरण एवं कृषकों को फसली ऋण वितरण का कार्य निर्बाध रूप से कर रहे है।
उक्त महामारी के संक्रमण से ग्रसित होकर सहकारी संस्था बरखेड़ा पंथ के प्रभारी प्रबंधक श्री अशोक रावल, संस्था नाटाराम के सेल्समैन श्री गोविन्दराम माली एवं संस्था धुधड़का के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी श्री नरेन्द्र सोनी का देहावसान हो चुका है। ऐसे महामारी के संकटकाल में उक्त कर्मचारियों के परिवारजन अपने आपकों अकेला एवं असहाय महसूस न करें इस हेतु सहकारी बैंक के मुखिया श्री पी.एन. यादव मुख्य कार्यपालन अधिकारी की प्रेरणा से दिवगंत परिवारों को सहकारिता के माध्यम से आर्थिक सहायता प्रदाय किये जाने का निर्णय लिया गया।
उक्त प्रेरणा को मुर्तरूप रूप दिये जाने में सहकारी बैंक व सहकारी संस्थाओं के कर्मचारीगण द्वारा आर्थिक सहायता राशि एकत्र की गई जिसमें सहकारिता से जुड़े अन्य विभाग सहकारिता विभाग, खाद्य विभाग, सिविल सप्लायर्स कार्पोरेशन एवं विपणन सहकारी संस्थाओं आदि के अधिकारीगण एवं कर्मचारीगण द्वारा खुले मन से आर्थिक सहायता राशि प्रदान की। उक्त प्राप्त सहयोग राशि में से तीनों दिवगंत कर्मचारी के परिवारजनों को प्रत्येक परिवारजन राशि रूपये  1-1 लाख की आर्थिक सहायता  प्रदान की गई है। जो सहकारिता की मूलभावना ‘‘सब एक के लिये एक सब के लिये‘‘ को चरितार्थ करती है।