कोवैक्सीन की कमी से आधे किए सेंटर

मयंक भार्गव

बैतूल  ७ जनवरी ;अभी तक;  विगत तीन जनवरी से 15 से 18 साल के टीनेजर्स के लिए शुरू किए गए वैक्सीनेशन के तीसरे ही दिन जिले में वैक्सीन का टोटा हो गया। वैक्सीन की कमी के चलते गुरूवार को 156 सेंटर कम कर दिए गए। बुधवार को बनाए गए 314 सेंटरों में से गुरूवार को सिर्फ 158 सेंटरों में ही वैक्सीन लगाए गए। गुरूवार को जिले में मात्र 8 हजार 431 किशोर बालक-बालिकाओं को ही वैक्सीन लगाई गई। आज शुक्रवार को टीनेजर्स का वैक्सीनेशन सत्र नहीं है। यदि शनिवार तक जिले में पर्याप्त वैक्सीन मिल जाती है तो 3 सैकड़ा से अधिक सेंटरों पर वैक्सीन लगाई जाएगी।

शुरूवाती दो दिन में 57 हजार को लगाई वैक्सीन

3 जनवरी से किशोर बालक-बालिकाओं के लिए शुरू किए गए वैक्सीनेशन में 15 से 18 आयु वर्ग वालों को सिर्फ को वैक्सीन ही लगाए जा रहे हैं। 3 जनवरी को पहले दिन 275 स्कूलों में बनाए गए सेंटर में 25 हजार 355 टीनेजर्स को वैक्सीन लगाई गई वहीं 5 जनवरी को दूसरे दिन स्कूलों की संख्या बढ़ाकर 314 कर दी गई। 5 जनवरी को 314 सेंटर में 31 हजार 878 बालक बालिकाओं को वैक्सीन लगाई गई। दो दिन में ही जिले में 57 हजार 233 टीनेजर्स को वैक्सीन लगा दी गई।

156 सेंटर किए कम

गुरूवार को जिले में पर्याप्त मात्रा में कोवैक्सीन उपलब्ध नहीं से जिले में 156 सेंटर कम कर दिए गए। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. एके भट्ट ने बताया कि गुरूवार को जिले में सिर्फ 158 स्कूलों में ही वैक्सीनेशन सेंटर बनाए गए। इन स्कूलों में कुल 14 हजार 482 विद्यार्थियों को वैक्सीन लगना था लेकिन शाम तक मात्र 8431 विद्यार्थियों ने ही वैक्सीन लगवाई। गुरूवार को घोड़ाडोंगरी में सर्वाधिक 122 फीसदी और शाहपुर में सबसे कम 29 फीसदी वैक्सीनेशन हुआ। गुरूवार को 8431 टीनेजर्स को वैक्सीन लगाने के बाद जिले में अब तक 65 हजार 664 किशोरों को वैक्सीन लगाया जा चुका है। जिले में टीनेजर्स का अगला वैक्सीनेशन शनिवार को होगा।