खंडवा के गौरव दिवस के आयोजन में बजा “लड़की आंख मारे” हिन्दू संगठन और आभाविप्र ने जताया विरोध

7:21 pm or August 4, 2022
मयंक शर्मा
खंडवा ४ अगस्त ;अभी तक; मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार निर्णय लिया है कि वह हर शहर का गौरव
दिवस बनाएगी। 4 अगस्त को किशोर कुमार के जन्मदिन के अवसर पर आशेजित 3
दिनी कार्यक्रम के पहले दिन बुधवार को कार्यक्रम की शुरूआत में ही गौरव
दिवस को लेकर बड़ा बखेड़ा खड़ा हो गया है।
                    इस विरोध में भारतीय विद्यार्थी परिषद भी कूद  गया है। अखिल भारतीय
विद्यार्थी परिषद की मांग थी कि इस तरह के अश्लील गाने बजाए जाने वाले और
उस पर नाचने वाले अधिकारियों को तत्काल बर्खास्त किया जाए। वह अपनी जिद
पर अड़ गए कि वह ज्ञापन कलेक्टर को ही सौंपेंगे। अंतत ं जिला कलेक्टर को
ज्ञापन सौपते हुए उन्होंने चेतावनी दी की अगर दोषी अधिकारियों पर
कार्यवाही नहीं हुई तो वह पुरे प्रदेश में खंडवा कलेक्टर का पुतला
फूंकेंगे। बुधवार को जुम्बा डांस में अश्लील गाने बजाए गए उसी के विरोध
में गुरूवार को  धरना देकर कलेक्टर को ज्ञापन देकर अवगत कराया है की
जिसने इसने यह आयोजन कराया और इसमें जो अधिकारी शामिल थे उनपर कठोर
कार्यवाही की जाए।
                   दरअसल गौरव दिवस की शुरुआत में प्रशासन में जुंबा डांस का आयोजन रखा था
इस आयोजन में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ ही स्कूली छात्र छात्राएं भी
शामिल हुए। इस में बजाए जाने वाले गानों “लड़की आंख मारे” के खिलाफ अब
हिंदू संगठन और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में जिला पंचायत की महिला
सीईओ और नगर निगम की महिला आयुक्त के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया है।
भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता तो कलेक्टर के दरवाजे पर राम धुन
गा कर विरोध जताने लगे। उन्होंने जिला कलेक्टर को ज्ञापन देकर दो दिन में
कार्यवाही करने की बात कही।जुम्बा डांस में फ़िल्मी गानों की धुन पर जिले
के बड़े अधिकारी से लेकर स्कूली छात्र छात्राए खूब थिरके। लेकिन जुम्बा
डांस में गायक मीका सिंघ का गाना लड़की आंख मारे बजाने को लेकर विवाद खड़ा
हो गया।
                   हिंदूवादी नेता अशोक पालीवाल ने फेसबुक पोस्ट पर सवाल खड़े करते हुए लिखा
खंडवा खंडवा तुझे प्रणाम।यह खंडवा जिला पंचायत सीईओ एवं साथ ही नगर निगम
कमिश्नर खंडवा गौरव दिवस पर स्कूली बालक एवं बालिकाओं को कौन से अश्लील
गाने पर कौन सा खंडवा का गौरव बढ़ाने की शिक्षा दे रही है। मुख्यमंत्री जी को विषय संज्ञान में लेकर आयोजकों के ऊपर कठोर कार्यवाही करनी चाहिए एवं आयोजकों के साथ शामिल अधिकारियों को भी इस पर माफी मांगने चाहिए।

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *