खंडवा में 1 कोरोना संक्रमित मरीज मिला, ’धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी’

’मयंक शर्मा
खंडवा  २४ दिसंबर ;अभी तक;  ढाई महीने बाद खंडवा में एक कोरोना पॉजिटिव संक्रमित मरीज मिला है।
                  जिला महामारी अधिकारी डॉ. योगेश शर्मा ने बताया कि आंनद नगर क्षेत्र की युवती भुवनेश्वर उड़ीसा से लौटी थी! सैंपल के बाद रिपीट पॉजिटिव आई  तो शुक्रवार  से उसे होम आइसोलेट किया गया है।
               उधर प्रदेश व्यापी रात्रि कालीन कफर्य के तहत खण्डवा जिले की सम्पूर्ण भौगोलिक सीमा में अपर जिला दण्डाधिकारी  शंकरलाल सिंगाड़े ने दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के प्रावधानों के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए है। जारी आदेश अनुसार जिले में रात्रि 11 बजे से प्रातः 5 बजे तक नाईट कफ्र्यू रहेगा। सभी सिनेमाहॉल, मल्टीप्लेक्टस, थियेटर, जिम,
कोचिंग क्लासेस, स्वीमिंग पुल, क्लब, स्टेडियम में 18 वर्ष से अधिक आयु के केवल उन लोगों को ही प्रवेश की अनुमति रहेगी, जिन्होंने कोविड -19 के दोनों टीके लगवाएँ है।
                     आदेश मे ंसभी सक अपेक्षा की गयी है कि वे कोविड-19 के टीके की दोनों डोज लें।  समस्त मार्केट प्लेस एवं मॉल के दुकानदारों तथा मेलों में दुकान लगाने वाले दुकानदारों से अपेक्षा की है कि वे भी टीके की दोनों डोज लें। कोविड उपयुक्त व्यवहार जैसे मास्क का उपयोग, सोशल डिस्टेंसिंग आदि का पालन किया जाना अनिवार्य होगा,।‘‘नो मास्क नो मूवमेंट‘‘ का सख्ती से पालन किया जायेगा। जारी आदेश में उल्लेख है कि सार्वजनिक स्थानों में प्रत्येक व्यक्ति 6 फिट यानी (2 गज की दूरी) बनाये रखेगा। भीड़ – भाड़ वाली जगहों और सार्वजनिक परिवहन में सामाजिक दूरी बनाये रखना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए भी महत्वपूर्ण है।  मास्क नहीं लगाने वाले व्यक्तियों से जुर्माना वसूल किया जावेगा।
0 ’नाईट कफ्र्यू के दौरान प्रतिबंध से मुक्त गतिविधियाँ’
                      आदेश मे  कहा गया है कि नाईट कफ्र्यू के दौरान अंतर राज्य, अंतर जिला एवं जिले में माल परिवहन पैसेंजर वाहन सेवा वाहन आवागमन में छूट रहेंगी। समस्त प्रकार के उद्योग एवं औद्योगिक गतिविधियाँ चालू रह सकेंगी। उद्योगों के कच्चा माल/तैयार माल के आवागमन पर किसी प्रकार की रोक नहीं होगी। अस्पताल, नर्सिग होम, क्लीनिक, मेडिकल, अन्य स्वास्थ्य एवं
चिकित्सा सेवाएं, चालू रहेंगी। इस आदेश का उल्लंघन भारतीय दण्ड संहिता की धारा-188 के अंतर्गत दण्डनीय होगा।