खंडवा संसदीय उपचुनाव में कांग्रेस से अरूण यादव की उम्मीदवारी लगभग तय: घोषणा बाकी

मयंक शर्मा
खंडवां एक अक्टूबर ;अभी तक; कांग्रेस नेता श्री दिग्विजय सिंह ने अरूण  यादव को बधाई के साथ खंडवा संसदी उपचुनाव में कांग्रेस उमीदवारी के दावों ओर अटकलों पर विराम लगा दिया हे।
               मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने अरूण यादव की उप चुनाव में उम्मीदवारी की बधाई के साथ उम्मीदवार चयन प्रक्रिया का खुलासा कर दिया है।
              श्री यादव के निकटतम व भरोसेमंद सूत्रों ने कहा कि शुक्रवाार को अरुण यादव की उम्मीदवारी पर मोहर लग चुकी है। मात्र घोषणा बाकी है ।खंडवा जिले की लोकसभा सीट पर नंदकुमार सिंह चैहान के  स्वर्गवास के बाद जो भाजपा का दबदबा था वह धीरे-धीरे खत्म होता दिखाई दे रहा है
              भाजपा में स्थानीय स्तर पर तीन नामों पर चर्चा ं पर है लेकिन  तीनों नामों को छोड़कर और कोई नया चेहरा उम्मीदवार होगा इसके  कयाय है। अर्चना चिटनीस दावो में अग्रणी हे।दो तीन दिनों में भाजपा की घोषणा संभव है। राजनैतिक हालात देखे तो भाजपा का चुनाव लड़ने का तरीका मैनेजमेंट के आधार पर चलता है मार्केटिंग के मामले में भाजपा सभी दलों पर भारी है लेकिन वर्तमान की
राजनीति का परिदृश्य बदला हुआ है
पुरानी मजबूत भाजपा कहीं ना कहीं कुंठित नजर आ रही है और नई भाजपा कब्जा
जमाए हुए हैं जो आंखों में किरकिरी का काम कर रही है
        इस कारण  भितरघात से इनकार नहीं है जिसकी बुनियाद में ही
राजनीतिक परिणाम चैंकाने वाले हो सकते हैं
  नंदकुमार सिंह चैहान  कुशल राजनीतिक थे । वहीं श्री यादव 2014 में मिली
हार के बाद लगातार आत्ममंथन में लगे रहे और अपनी हार का कारण ढूंढते रहे
और सारे विरोधियों को एक माला में पिरोने का का काम करते रहे है।