खेत किसान पाठशाला आयोजित कर किसानों को नरवाई ना जलाने के लिए किया जाए जागरूक : कलेक्टर

सौरभ तिवारी

होशंगाबाद ९ नवंबर ;अभी तक;  सभी ग्राम पंचायतों में गेहूं की बुवाई के पश्चात खेत किसान पाठशाला आयोजित कर किसानों को नरवाई ना जलाने के लिए जागरूक किया जाए। यह निर्देश कलेक्टर होशंगाबाद नीरज कुमार सिंह ने कृषि विभाग एवं अन्य संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिए है। मंगलवार को कलेक्टर श्री सिंह ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष मे कृषि, पशुपालन,उधानिकी आदि विभाग अंतर्गत संचालित योजनाओं व कार्यक्रमों की विस्तार से समीक्षा की। कलेक्टर श्री सिंह ने समीक्षा बैठक में बिना पूर्व सूचना के अनुपस्थित रहने पर मंडी सचिव इटारसी को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।

कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि कृषि विभाग एवं राजस्व विभाग के संयुक्त दल द्वारा सभी ब्लॉकों में नरवाई जलाने के प्रकरणों की सघन मॉनिटरिंग करें तथा किसानों को नरवाई ना जलाने की समझाइश दी जाए। समझाइश देने के पश्चात भी नरवाई जलाने वालों के विरुद्ध धारा 188 के तहत दंडात्मक कार्रवाई की जाए।

कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि जिले में रसायनिक उर्वरकों के संतुलित उपयोग के साथ जैविक खाद के उपयोग को बढ़ावा दिया जाए। जिससे मृदा की उर्वरता को हानि पहुंचाए बिना अधिक उत्पादन प्राप्त किया जा सके। कलेक्टर श्री  सिंह ने जिले में उन्नत बीजों की उपलब्धता एवं उपयोग की स्थिति , फसल चक्र, कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग आदि की समीक्षा कर कृषि विभाग को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि जिले के आदिवासी क्षेत्रों तथा ऐसे स्थानों जहां पानी की समस्या है वहां तुलसी, आंवला,अश्वगंधा आदि  औषधीय पौधों के उत्पादन को बढ़ावा दिया जाए। औषधीय पौधों पर आधारित उत्पाद निर्मित करने वाली कंपनियों की  मांग अनुरूप औषधीय पौधों का उत्पादन किया जाए जिससे उनकी बेहतर मार्केटिंग हो सके। क्लस्टर लेवल पर औषधि पौधों का उत्पादन किया जाए, जिससे आवश्यक प्रशिक्षण के साथ अन्य लॉजिस्टिक्स की सुगमता से आपूर्ति की जा सके। उन्होंने पशुपालन विभाग को कार्य योजना तैयार कर सेक्स सोर्टेड सीमेन कराएं जाने के निर्देश दिए।

बैठक में उप संचालक कृषि, उप संचालक उद्यानिकी, उप संचालक पशु चिकित्सा सेवाएं सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।