गणेशोत्सव के लिए अधिकतम 30X45 फीट का लगा सकेंगे पंडाल

मयंक भार्गव

बैतूल ४ सितम्बर ;अभी तक;  गणेशोत्सव के सात दिन पहले जिला प्रशासन ने आयोजन को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी है। जिला प्रशासन ने सार्वजनिक गणेशोत्सव के लिए अधिकतम 30X45 फीट का पंडाल लगाने की अनुमति दी है। वहीं विसर्जन के लिए अधिकतम 10 लोगों की लिखित अनुमति लेना पड़ेगा। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर प्रदेश सरकार गृह विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन के आधार पर 3 सितम्बर को कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस ने जिले में भी गणेशोत्सव मनाए जाने के लिए दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं।

कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस द्वारा जारी निर्देशों में कहा गया है कि प्रतिमा/ताजिये के लिए पण्डाल का आकार अधिकतम 30X45 फीट नियत किया गया है। झांकी निर्माताओं को सलाह दी गई है कि वे ऐसी झांकियों की स्थापना एवं प्रदर्शन नहीं करें, जिनमें संकुचित जगह के कारण श्रद्धालुओं/दर्शकों की भीड़ की स्थिति बनें तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न हो सके। झांकी स्थल पर श्रद्धालुओं/दर्शकों की भीड़ एकत्र नहीं हो तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो, यह व्यवस्था आयोजकों को सुनिश्चित करना होगी।

विसर्जन समूह में रहेंगे सिर्फ 10 व्यक्ति

मूर्ति/ताजिये का विसर्जन संबंधित आयोजन समिति द्वारा किया जाएगा। विसर्जन स्थल पर ले जाने के लिए अधिकतम 10 व्यक्तियों के समूह की अनुमति होगी। इसके लिए आयोजकों को पृथक से जिला प्रशासन से लिखित अनुमति प्राप्त किया जाना आवश्यक होगा। निर्देशों में कहा गया है कि जिला प्रशासन द्वारा विसर्जन के लिए अधिक से अधिक उपयुक्त स्थानों का चयन जाए, ताकि विसर्जन स्थल पर कम भीड़ हो। विसर्जन की विकेन्द्रीकृत व्यवस्था पर भी जिला शांति समिति तथा जिला क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी में विचार किया जा सकेगा।

चल समारोह की नहीं रहेगी अनुमति

कोविड संक्रमण के दृष्टिगत धार्मिक/सामाजिक आयोजन के लिए चल समारोह निकालने की अनुमति नहीं होगी। विसर्जन के लिए सामूहिक चल समारोह भी अनुमत्य नहीं होगा। लाउड स्पीकर बजाने के संबंध में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा जारी की गई गाइड लाइन का पालन किया जाना अनिवार्य होगा। सार्वजनिक स्थानों पर कोविड संक्रमण से बचाव के तारतम्य में झांकियों/पंडालों/विजर्सन के आयोजनों में श्रद्धालु/दर्शक फेस कवर, सोशल डिस्टेंसिंग एवं सैनिटाइजर का प्रयोग के साथ ही राज्य शासन द्वारा समय-समय पर जारी किये गये निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाए।