गबन का आरोपी पंचायत सचिव गिरफ्तार, महिला सरपंच फरार

मयंक भार्गव

बैतूल १६ सितम्बर ;अभी तक;  ग्राम पंचायत में लाखों रुपए का गबन करने का आरोपी सचिव को आखिरकार पुलिस ने एक माह की कड़ी मशक्कत और तलाशी के बाद अंतत: गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त कर ली है। जबकि गबन की आरोपी महिला सरपंच अभी भी फरार चल रही है। गबन के मामले में मुलताई जनपद के सीईओ हरि बिंजाडे ने सांईखेड़ा थाने में गबन की नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

गिरफ्तार कर भेजा जेल

थाना प्रभारी सांईखेड़ा राहुल रघुवंशी ने बताया कि सांईखेड़ा पंचायत में सचिव रहे चंद्रभान उर्फ राजेश को गबन के मामले में पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। उस पर 13 लाख 30 हजार रुपए के गबन का आरोप है। पुलिस ने गांव की सरपंच मंदा बट्टी को भी इस मामले में आरोपी बनाया है, जो फरार है।

महिला सरपंच फरार

श्री रघुवंशी ने बताया कि मुलताई जनपद के सीईओ हरि बिजाड़े ने सांईखेड़ा की सरपंच मंदा बट्टी और सचिव चंद्रभान के खिलाफ 14 अगस्त को धोखाधड़ी, गबन की धाराओं में प्रकरण दर्ज कराया था। आरोप है कि दोनों पंचायत पदाधिकारियों ने पंचायत के विकास कार्यों के करोड़ों रुपए गबन कर लिया था। प्रकरण दर्ज होने के बाद से ही सरपंच व सचिव गायब हो गए थे।

ससुराल में मिला सचिव

श्री रघुवंशी ने बताया कि पुलिस एक महीने से फरार सचिव को तलाश रही थी। पुलिस ने सांईखेड़ा थाने में सचिव के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया था। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए थाना सांईखेड़ा से टीम गठित की। लगातार आरोपियों की तलाश के दौरान मुखबिर से सूचना मिली कि आरोपी चन्द्रभान उर्फ राजेश पुत्र गुलाबराव निवासी साईंखेड़ा उसकी ससुराल जम्बाडी थाना आमला में छुपा है। सूचना पर आरोपी की ससुराल जम्बाडी में पुलिस टीम ने दबिश दी। यहां आरोपी चन्द्रभान उर्फ राजेश पुलिस को आता देख भागने लगा, जिसे टीम ने पकड़ लिया। यह सचिव चन्द्रभान फिलहाल पिसाटा पंचायत में पदस्थ था।