गबन की आरोपी महिला सरपंच भी गिरफ्तार

मयंक भार्गव

बैतूल  १७ सितम्बर ;अभी तक;  जनपद पंचायत मुलताई अंतर्गत ग्राम पंचायत सांईखेड़ा में हुए 13.30 लाख रूपए गबन के मामले में सांईखेड़ा पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी की जा रही है। नवपदस्थ सांईखेड़ा थाना प्रभारी तेजतर्रार उपनिरीक्षक राहुल रघुवंशी के नेतृत्व में पुलिस टीम ने गबन के आरोपी दो पंचायत सचिवों संतोष हुरमाड़े तथा चन्द्रभान उर्फ राजेश को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। 16 सितंबर को पुलिस टीम ने गबन की मुख्य आरोपिया सांईखेड़ा सरपंच मंदा पति प्रकाश वट्टी को महाराष्ट्र के अमरावती से गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की। पुलिस ने महिला सरपंच को न्यायालय के समक्ष पेश किया। न्यायालय के आदेश पर आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। गबन कांड में फरार तीन पंचायत सचिव/ ग्राम रोजगार सहायकों की तलाश में पुलिस टीम आरोपियों के रिश्तेदारों सहित संभावित ठिकानों पर छापामार कार्यवाही कर रही है। सांईखेड़ा थाना प्रभारी श्री रघुवंशी ने फरार आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने का दावा किया है।

दामाद के यहां छुपी थी आरोपिया सरपंच

ग्राम पंचायत सांईखेड़ा मेें हुए 13 लाख 30 हजार 261 रूपए गबन की मुख्य आरोपिया सरपंच श्रीमति मंदा वट्टी की पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही थी। आरोपिया के मोबाइल की लोकेशन अमरावती में मिलने पर मुखबिर की सूचना एवं साइबर सेल की मदद से सांईखेड़ा थाना प्रभारी सब इंस्पेक्टर राहुल रघुवंशी के नेतृत्व में उपनिरीक्षक इरफान कुरैशी, सउनि कफिल शेख, आरक्षक नरेन्द्र, महिला आरक्षक रीन की टीम ने अमरावती स्थित आरोपिया के दामाद के यहां दबिश देकर आरोपिया मंदा वट्टी को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी से बचने के लिए आरोपिया महाराष्ट्र के अमरावती स्थित अपने दामाद के घर में छुपी हुई थी। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। न्यायालय के आदेश पर उसे जेल भेज दिया।

फरार तीन पंचायत सचिवों की सरगर्मी से तलाश

उल्लेखनीय है कि जनपद पंचायत मुलताई के पंचायत समन्वय अधिकारी हरि बिंजाड़े ने सांईखेड़ा ग्राम पंचायत में पंचायती कार्यो में अनियमितता कर 13 लाख 30 हजार 261 रूपए गबन करने के मामले में सरपंच, 5 सचिव/ ग्राम रोजगार सहायक एवं उपयंत्री के खिलाफ सांईखेड़ा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। शिकायत आधार पर पुलिस ने ग्राम पंचायत सांईखेड़ा की सरपंच श्रीमति मंदा पति प्रकाश वट्टी, 5 पंचायत सचिव/ ग्राम रोजगार सहायक चन्द्रभान उर्फ राजेश, संतोष हुरमाड़े, अलकेश सूर्यवंशी, सोनोरी फरकाड़े, दुर्गादास अड़लक सहित उपयंत्री के खिलाफ धारा 420, 467, 468, 34 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया था। गबन के बड़े मामले में सांईखेड़ा पुलिस सरपंच को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। जबकि फरार सचिव/ रोजगार सहायक अलकेश सूर्यवंशी, सोनोरी फरकाड़े एवं दुर्गादास अड़लक की पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है।