गवाह पर प्राणघातक हमला करने वाले आरोपीगण को हुआ 07 वर्ष का सश्रम कारावास

विधिक संवाददाता
इंदौर एक जनवरी ;अभी तक;  जिला अभियोजन अधिकारी श्री संजीव श्रीवास्‍तव ने बताया कि न्‍यायालय- श्री शहाबुद्दीन हाशमी सत्‍ताइसवें अपर सत्र न्‍यायाधीश जिला इंदौर के न्‍यायालय में थाना खुडैल जिला इंदौर के सत्र प्रकरण क्रमांक 245/2012, में निर्णय पारित करते हुए आरोपीगण (1) प्रीतम पिता चंदरसिंह गुर्जर उम्र 31 वर्ष (2) श्‍यामसुंदर पिता चंद‍रसिंह गुर्जर उम्र 41 वर्ष दोनो निवासीगण –  ग्राम दुधिया, जिला  इंदौर (म0प्र0) को दोषी पाते हुए धारा 307/34  भादवि में 07-07 वर्ष का सश्रम कारावास व 1000-1000 रूपये के अर्थदण्‍ड एवं आरोपी प्रीतम को  धारा 27 आयुध अधिनियम में 03 वर्ष का सश्रम कारावास व 500 रूपये के अर्थदण्‍ड से दण्डित किया गया । प्रकरण में अभियोजन की ओर से पैरवी अपर लोक अभियोजक श्री गोकुल सिंह सिसोदिया द्वारा की गई  ।
                   अभियोजन की ओर से अपर लोक अभियोजक श्री गोकुल सिंह सिसोदिया  द्वारा तर्क किया गया कि आरोपीगण द्वारा जमानत पर रहते हुए न्‍यायालय द्वारा अधिरोपित जमानत की शर्तो का उल्‍लंघन कर गंभीर प्रकार का अपराध किया है इसलिए अभियुक्‍तगण को कठोरतम दंड से दंडित किये जाने का निवेदन किया गया ।
                   अभियोजन कहानी संक्षेप में इस प्रकार है कि फरियादी ओमप्रकाश ने थाना आकर इस आशय कि‍ रिपोर्ट लिखाई कि दिनांक 21.09.2011 को रात्रि 8:30 बजे वह उसके बडे भाई महेश से मिलने के बाद दीपक के साथ बोलेरो गाडी नंबर एमपी 09 एनजे 7000 मे बैठकर गांधी नगर से इंदौर नेमावर रोड पर पहॅूचा तभी टर्न लेते समय पीछे से एक बिना नंबर की सफारी कार आई जिसको आरोपी श्‍यामसुंदर चला रहा था एवं आरोपी प्रीतम ड्रायवर की बगल वाली अगली सीट पर बैठा था । कार की टर्निंग लेते समय आरोपी प्रीतम ने देशी पिस्‍टल से ओमप्रकाश के ऊपर जान से मारने की नियत से गोली चलाई जो बोलेरो गाडी के दाहिने तरफ वाले बीच के दरवाजे पर लगी । आरोपीगण द्वारा घटना के कुछ समय पूर्व ही ओमप्रकाश के भाई सुजित की हत्‍या कर दी गई थी उसमे ओमप्रकाश मुख्‍य गवाह था । उक्‍त रिपोर्ट पर से अभियुक्‍तगण के विरूद्ध धारा 307 भा.द.सं. एवं 25,27 आयुध अधिनियम का अपराध पंजीबद्ध किया गया एवं सम्‍पूर्ण विवेचना उपरांत आरोपीगण के विरूद्ध अभियोग पत्र न्‍यायालय में पेश किया गया । जिस पर से आरोपीगण को उक्‍त सजा सुनाई गई ।