गांधीजी के सिद्धांतों की प्रतिदिन हत्या हो रही है

महावीर अग्रवाल 
मन्दसौर २ अक्टूबर ;अभी तक;  राजनेता तथा राजनीतिक दल राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और उनके सिद्धांतों की दुहाई देते हैं, इसके विपरीत प्रतिदिन गांधीजी के सिद्धांतों की हत्या हो रही है। गांधीजी के त्याग, बलिदान को कृतज्ञ देश हमेशा याद रखेगा।
ये उद्गार श्रम शिविर में गांधी जयंति पर आयोजित समारोह में वक्ताओं ने व्यक्त किए।
               गांधी स्मारक ट्रस्ट अध्यक्ष श्री त्रिदेव पाटीदार ने कहा कि गांधीजी दलितों, पीड़ितों, शोषितों के पेरोकार थे। जिला इंटक अध्यक्ष श्री खूबचन्द शर्मा ने कहा कि आज भी आम आदमी परेशान है किन्तु उनकी सुध लेने वाला कोई नहीं है। जिला इंटक उपाध्यक्ष श्री विक्रम विद्यार्थी ने कहा कि खेद की बात है कि नेता माफियाओं के समर्थन में आगे रहे हैं, जबकि वे आम जनता की सेवा की दुहाई देते है। जिला इंटक उपाध्यक्ष श्री गोपाल गुरू ने कहा कि नेता जनता की पीड़ा सुनने, समझने और उसे हल करने को तैयार नहीं है।
                इंटक नेता सौभाग्यमल जैन, वीरेन्द्र पंडित, श्याम बैरागी, सत्यनारायण कुमावत, रमेश रेतवाले आदि ने महात्मा गांधी का स्मरण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। वक्ताओं ने पूर्व  प्रधानमंत्री श्री लालबहादुर शास्त्री की देश को दी गई सेवाओं का स्मरण भी किया।
संचालन श्री सौभाग्यमल जैन ने किया। आभार श्री श्यामलाल बैरागी ने माना।