गुंडे बदमाशों का अड्डा बना पोलोग्राउंड औद्योगिक क्षेत्र, साठ वर्षों में भी पानी न पहुंचा सका निगम

6:29 pm or October 18, 2022
महावीर अग्रवाल
  मन्दसौर , भोपाल  १८ अक्टूबर लाभ तक;   इंदौर शहर का* सबसे पुराना औद्योगिक क्षेत्र पोलोग्राउंड आज भी पीने के पानी को मोहताज है। इस सबसे पुराने आद्योगिक क्षेत्र में साठ वर्षों बाद भी नगर निगम इंदौर पानी भी नहीं पहुंचा सका है। इस क्षेत्र में पानी की टंकी के निर्माण और पाइप लाईन बिछाने के लिये तीन करोड़ रूपये मंजूर हुये महीनों बीत चुके हैं। बावजूद इसके अबतक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। पोलो ग्राउंड औद्योगिक क्षेत्र में कुछ अवांछित तत्वों ने सड़क किनारे अवैध निर्माण कर रखा है। उद्योगपतियों ने नगर निगम से शिकायत भी की, पर अबतक कुछ नहीं हुआ। क्षेत्र की दुकानों में नशे की सामग्री आसानी से उपलब्ध हो जाती है। इस बारे में कार्यपालन यंत्री, नर्मदा प्रोजेक्ट का कहना है कि उद्योग विभाग को इस क्षेत्र में पानी की टंकी बनाना और पाईप लाईन बिछाना है, इसकी मंजूरी भी मिल चुकी है। हमें सिर्फ पानी उपलब्ध कराना है और कनेक्शन देना है। बहरहाल, समस्या अब भी बनी हुई है।
                           मामले में संज्ञान लेकर मप्र मानव अधिकार आयोग ने *कमिश्नर, इंदौर संभाग से दो माह में जवाब मांगा है। आयोग ने कमिश्नर इंदौर से कहा है कि सभी संबंधित विभागों से समन्वय कर समुचित कार्यवाही कराकर पानी की मूलभूत सुविधा सबंधित क्षेत्रवासियों को यथाशीघ्र उपलब्ध करायें, तत्पश्चात् प्रतिवेदन दें।*