गोविन्द जी मंदिर मे लगा झूला, झूला-झूल रहे कन्हैया

8:54 pm or August 2, 2022
(दीपक शर्मा)
पन्ना २ अगस्त ;अभी तक; श्रावण मास मे पुरातन काल से झूला की परमपरा चली आ रही है। लेकिन यह ग्रामीण तथा अन्य क्षेत्रो मे धीरे धीरे बन्द हो गई है। लेकिन भगवान जी के मंदिरो मे यह परमपरा पुरातन काल से आज भी जारी है। नगर के ऐतिहासिक गोविन्द जी मंदिर मे विगत रवीवार से मंदिर के अन्दर ही झूला डाला गया है। जिसमे कृष्ण कन्हैया को झूला झुलाया जा रहा है।
                इस संबंध मे मंदिर के पुजारी पुरषोत्तम पान्डेय ने बताया कि यह परमपरा पूर्व से ही चली आ रही है और यह अनवरत जारी रहेगी। परमपरा का उद्देश्य भगवान द्वारा की गई लीलाओं मे यह लीला भी शामिल है, श्रावण मास मे भगवान जी द्वारा झूला का आनन्द लिया जाता था तथा सभी को सुख सम्रद्ध रखने के लिए हर्ष उल्लास के साथ झूला डाले जाते थें।