ग्राम रूपावली व ग्राम खोती में विवाद विहीन ग्राम योजना अंतर्गत विधिक साक्षरता शिविर सम्पन्न 

4:32 pm or March 18, 2021
ग्राम रूपावली व ग्राम खोती में विवाद विहीन ग्राम योजना अंतर्गत विधिक साक्षरता शिविर सम्पन्न 
महावीर अग्रवाल

मन्दसौर  १८ मार्च ;अभी तक;  म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के दिशा निर्देशानुसार एवं माननीय जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर श्री विजय कुमार पाण्डेय के मार्गदर्शन में दिनांक 17.03.2021, बुधवार को चयनित ग्राम रूपावली तहसील मंदसौर व ग्राम खोती तहसील सीतामऊ, जिला मंदसौर में विवाद विहीन ग्राम योजना-2000 अंतर्गत विधिक साक्षरता षिविर आयोजित कर लीगल एड क्लीनिक की स्थापना की गई।
उपरोक्त शिविर में अपर जिला न्यायाधीश/सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर श्री मो. रईस खान द्वारा सर्वप्रथम राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर द्वारा संचालित विभिनन योजनाओं की विस्तारपूर्वक जानकारी दी एवं उपस्थित ग्रामवासियों को बताया कि विधिक रूप से जागरूक होने पर ही हम अपने संवैधानिक अधिकारों को प्राप्त कर सकते हैं, क्योंकि जब हम जागरूक होंगे, तभी हमें अधिकार प्राप्ति हेतु मंच की जानकारी होगी। साथ ही श्री खान द्वारा विवाद विहीन ग्राम योजना-2000 के अंतर्गत जानकारी देते हुए व्यक्त किया कि विवाद विहीन ग्राम से आशय उस ग्राम से है, जहां कोई विवाद न हो या यदि कोई विवाद उत्पन्न होता है, तो उसका सामजंस्यपूर्ण तरीके से निपटारा कर दिया जावे या विवाद न्यायालय में लंबित होने पर विवाद का निपटारा मध्यस्थता/लोक अदालत के माध्यम से कर दिया जावे। इस योजना के अंतर्गत विवादों के निराकरण के लिए एक स्वयंसेवी सेवादल का गठन किया गया है, जिसमें स्थानीय शासकीय पदेन सदस्यों के अतिरिक्त 02 स्थानीय प्रतिष्ठित, निष्पक्ष व समाजसेवी प्रतिनिधि होंगे। यह चयनित प्रतिनिधि स्थापित किये गये लीगल एड क्लीनिक में प्रत्येक कार्यदिवस सोमवार को कार्यालयीन समय में पैरालीगल वाॅलेन्टियर्स के रूप में अपनी सेवाएं देंगे। साथ ही विवादों का निराकरण परस्पर सूझबूझ व सुलह से किये जाने का प्रयास किया जावेगा। इस अवसर पर जनपद पंचायत के परियोजना अधिकारी श्री उपाध्याय द्वारा बताया कि गाँव में लीगल एड क्लीनिक स्थापित किये जाने से ग्रामवासियों की बहुत सी समस्याओं का निराकरण संभव होगा, जो कि ग्रामवासियों के लिए प्राथमिक तौर पर विधिक उपचार की तरह कार्य करेगा।
इस अवसर पर विधि विद्यार्थी कु. जमुना सोनी एवं कु. शालू मकवाना द्वारा भी लोक अदालत, मध्यस्थता योजना के संबंध में अपने विचार प्रस्तुत किये।
उपरोक्त कार्यक्रम में जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री योगेश बंसल, पीएलव्ही तरूणा श्रीमाल, श्रीमती रामकुंवर राठौर, श्रीमती बिंदिया देवी, गठित स्वयंसेवी सेवादल के सदस्य एवं ग्रामीणजन उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन श्री अवधेश कुमार दीक्षित द्वारा किया गया।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *