ग्राम हापला में  किसान के अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझी, मास्टर माइण्ड सहित चार धराये

मयंक शर्मा

खंडवा २० नवंबर ;अभी तक; सामप्रदायकिता की आग से झुलस रहे समीपस्थ ग्राम हापला दीपला में 14 नवम्बर की  रात में फसल सिंचाई के लिये गये किसान शरीफ की अगले दिन रविवार की सुबह खून से लथपथ शव ही पुलिस को मिला था।

पुलिस अधीक्षक विवेकसिंह ने बताया कि बताया कि  ग्राम हापला दीपला में पूर्व में हुये दो समुदाय के मध्य विवाद में एक व्यक्ति की मृत्यु होने पर हत्या का बदला के उदेश्य से यह कत्ल किया गया है । घटना में देशी पिस्टल तथा चैन स्पाइकंट लगा फरसा इलेमाल किया गया । इस अंधे कत्ल की गुत्थी कोतवली पुलिस ने सुलझा ली  है और कत्ल के आरोप  में चार लोग गिरफतार किये गये है।
0ये है आरोपी–
1. संदीप पिता मनोहर असलकर उम्र 21 साल निवासी ग्राम दीपला
2. शुभम पिता महेश शिवदे उम्र 18 निवासी ग्राम हापला
3  पवन पिता खुमान सिंह सोलंकी उम्र 24 साल निवासी ग्राम हापला
4. आनंद पिता जय सिंह मण्डलोई उम्र 24 साल निवासी ग्राम हापला

एसपी विवेकयिंह ने बताया कि  पूछताछ में  आरोपीगण द्वारा हत्या का अपराध स्वीकार किया जाने पर इन्हे गुरूवार  को गिरफ्तार किया गया एवं आरोपीगण के कब्जे से  घटना में प्रयुक्त हथियार , देशी पिस्टल , जिन्दा कारतूस , चैन स्पाइकेट लगा लोहे का फरसा ,आरोपीगण के खून लगे कपडे , मोबाइल जप्त किये गये गये है।।

उन्होने बताया कि रविवार को आशिफ पिता सरीफ मसूरी निवासी ग्राम हापला  ने खबर दी कि उसके पिता  सरीफ मंसूरी  शनिवार रात 12.30 बजे खिडगाँव के आगे खेत में सिचाई के लिये े गये थे।  रविवार सुबह सूचना मिली कि  मुन्शी के खेत के पास आम रोड पर पिताजी मृत अवस्था में पडे है । मृतक सरीफ के सिर में  चोट होकर खून निकला हुआ था ।दात टूटकर पडे हुये थे। मोटर सायकल भी पास में ही पड़ी हुई थी। जिस पर थाना कोतवाली मे मर्ग कायम कर पडताल शुरू की थी।

उल्ल्ेखनीय है कि ग्राम  हापला दीपला को लेकर आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या के उपजा हिंसा का यह चक्र में शरीफ चैथी हत्या के रूप मे सामने आया है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *