ग्राहक पंचायत का मुख्य उद्देश्य ग्राहक हितों का संरक्षण करना है

6:12 pm or December 23, 2021
महावीर अग्रवाल
मंदसौर २३ दिसंबर ;अभी तक;  अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत मंदसौर द्वारा जागरूकता पखवाड़े के तहत कल दिनांक 22 दिसम्बर को आदिमजाति बालक  छात्रावास में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। छात्रावास में लगभग 30 से अधिक छात्र इस जागरूकता कार्यक्रम में उपस्थित हुवे।
                      उपस्थित छात्र में से कुछ महाविद्यालय में तो कुछ लॉ कॉलेज में अध्ययन करते है। कार्यक्रम की शुरुआत ग्राहक पंचायत के जिलाध्यक्ष नवनीत शर्मा ने की। नवनीत शर्मा ने छात्रों से परिचर्चा करते हुवे बताया है कि एक ग्राहक के रूप में हमे हमेशा जागरूक रहना होगा क्योंकि खुले बाजार में ग्राहकों के साथ ठगी करने वाले कई तरह के लोग होंगे, वह हमें प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से अपना शिकार बना सकते है। कोई भी वस्तु या सामग्री खरीदते समय एमआरपी, निर्माण दिनांक व वस्तु के निष्क्रिय होने की दिनांक जरूर देखें। कई बार हम खरीदारी करने जाते है और इतनी जल्दी में रहते है और यह तक नही देखते है कि सामने वाले व्यापारी ने हमे कितनी वस्तु दी है या हमने जो मांगी है वह भी है या नही।
                 साथही जो कीमत उसने बता दी वह देकर गाड़ी लेकर निकल जाते है। लेकिन हमें इस अनुचित तरीके के व्यवहार में सुधार करना होगा। इस जल्दबाजी के चलते हम न तो वस्तु का मोलभाव करते है और नही उसकी तिथि देखते है। ग्राहक पंचायत का मूल उद्देश्य यह है कि ग्राहक हितों का संरक्षण करना है। ग्राहक पंचायत की सदस्या एडवोकेट डॉली मक्कड़ ने छात्रों से परिचर्चा करते हुवे बताया कि क्राइम के कई तरीके होते है प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष। आप प्रत्यक्ष व्यक्ति से लड़ाई कर सकते है लेकिन अप्रत्यक्ष रूप से आपको नुकसान पहुचा रहे व्यक्ति को हम कैसे नुकसान पहुचा सकते है। यह अप्रत्यक्ष व्यक्ति ओर कोई नही सायबर क्राइम की घटना अंजाम देने  वाले लोग होते है। यह हमारे शहर या कही दूर बैठकर इंटरनेट के माध्यम से अपना जाल बिछाकर लोगो को अपना शिकार बनाते है। जिस तेजी के साथ सोशल मीडिया का चलन बड रहा है उतनी तेजी के साथ इसका दुरुपयोग भी हो रहा है। हम किसी भी एप्लिकेशन को अपने फोन में इंस्टॉल करने से पहले उसके रिव्यू व उसके दिशा निर्देश पडले ताकि हमें उसके दिशा निर्देश की जानकारी हो। अपने मोबाईल में आपके बैंक अकाउंट के पासवर्ड व अन्य उपयोगी जानकारी सेव करके न रखे। साथ जब भी हम इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग कर रहे है तो आईडी पासवर्ड को सेव न करे और याद रखे कि नेट बैंकिंग उपयोग करते समय खुद का कम्प्यूटर, लेपटॉप या मोबाइल का उपयोग करे अन्य का या सायबर कैफे का सिस्टम उपयोग न करें । ऐसा करने पर हम ठगी का शिकार हो सकते है। समय समय पर मोबाइल, कम्प्यूटर व लेपटॉप की ब्राऊज़िंग हिस्ट्री को क्लियर कर दे ताकि आपके निजी डेटा के साथ कोई छेड़छाड़ न कर सके। भ्रामक विज्ञापन याने वस्तु को बड़ा चढ़ा कर दिखाने विज्ञापन पर काम करने वाले सेलेब्रिटीज़ पर भी अब कानूनी कार्यवाही हो सकती है। इस प्रकार से सम्बंधित विषयो पर छात्रों को जागरूक किया गया।  इस कार्यक्रम में ग्राहक पंचायत के जिलाध्यक्ष नवनीत शर्मा, महिला इकाई प्रमुख एडवोकेट सुधा कुर्मी, एडवोकेट डॉली मक्कड़, सविता रावल, सतीश जाटव एवं वरिष्ठ सदस्य भगवत शरण गुप्ता उपस्थित थे। कार्यक्रम के पश्चात उपस्थित छात्रों को जागरूकता की पुस्तकें वितरित की।