घंटों चक्कर लगवाने के बाद प्रसूता को जांच के लिए भेजा, खुले में हो गई डिलेवरी*

9:25 pm or November 2, 2022
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर , भोपाल २ नवंबर ;अभी तक;  *जिला अस्पताल गुना में* प्रसव कराने आई एक प्रसूता के साथ बीते मंगलवार को डाॅक्टर्स  एवं नर्सिंग स्टाॅफ का अमानवीय व्यवहार देखने को मिला। दर्द से तड़प रही प्रसूता को प्रसूति के लिये जब उसके परिजन जिला अस्पताल लेकर पहुंचे, तो वहां घंटों तक परिजन उसे लेकर यहां-वहां भटकते रहे, लेकिन किसी डाक्टर ने देखा तक नहीं। बाद में किसी तरह भर्ती किया, तो नर्सिंग स्टाॅफ ने खून की जांच और सोनोग्राफी कराकर आने को कहा। दर्द से तड़प रही प्रसूता को अकेला ही जांच के लिये ब्लड बैंक भेज दिया गया। वहां काफी देर तक प्रसूता लाईन में खड़ी-खड़ी दर्द से कराहती रही। इसी दौरान प्रसूता ने खुले में ही बच्चे को जन्म दे दिया। घटना के बाद मरीजों व परिजनों ने अस्पताल की अव्यवस्थाओं को लेकर भारी हंगामा किया।
                           मामले में मप्र मानव अधिकार आयोग ने *मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, गुना से 15 दिन में जवाब मांगा है।*