घर में घुसकर महिला का शील भंग करने वाले आरोपी को सजा एवं अर्थदण्‍ड से किया दण्डित

विधिक संवाददाता 

सीहोर ३० सेप्टैबेर ;अभी तक;  न्‍यायिक मजिस्‍ट्रेट प्रथम श्रेणी श्रीमती सारिका भाटी, सीहोर द्वारा अभियुक्‍तगण धरमसिंह पिता अमरसिंह, विनोद पिता अमरसिंह नि. ग्राम सेवखेड़ी थाना- आष्‍टा, जिला-सीहोर को धारा 354, 456 भादवि के अंतर्गत न्‍यायालय उठने तक का कारावास व अर्थदण्‍ड से दण्डित किया गया।

सहायक जिला अभियोजन अधिकारी, रानी जैन द्वारा बताया गया कि  फरियादी के द्वारा थाना आष्‍टा में रिपोर्ट लेख कराई कि दिनांक 25/03/2016 को अभियोक्त्री रोटी पानी खाकर अपने कमरे में बच्चो के साथ सो गई थी। अभियोक्त्री के बुआ सास सीताबाई व ससुर भंवरनाथ आंगन में सो रहे थे। तभी रात लगभग 2 बजे अभियुक्त धरमनाथ घर का फाटक खुल्ला देखकर अंदर घुसकर बुरी नियत से घर में घुस कर अभियोक्त्री को बुरी नियत से पकडा तथा मुंह दबाने लगा। अभियोक्‍त्री ने अभियुक्त को एक तरफ गिरा दिया और अभियोक्त्री चिल्लायी तो सीताबाई व भंवरनाथ दौडे तो अभियुक्त धरमनाथ ने उनके साथ धक्का मुक्की की और भागने लगा। चिल्ला चोंट की आवाज सुनकर अभियुक्त राजा व विनोद आ गये और तीनो अभियुक्त बोले कि रिपोर्ट की तो जान से खत्म कर देगें। उक्त घटना के पश्चात अभियोक्त्री ने प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराई थी  जिस पर अपराध क्रमांक 257/2016 धारा 456, 354, 323 भादवि में पंजीबद्ध कर विवेचना उपरांत अभियोग-पत्र माननीय न्‍यायालय के समक्ष प्रस्‍तुत किया गया।

माननीय न्‍यायिक मजिस्‍ट्रेट प्रथम श्रेणी श्रीमती सारिका भाटी आष्‍टा, जिला-सीहोर द्वारा अभियोजन की ओर से प्रस्‍तुत साक्षीगण की साक्ष्‍य एवं दस्‍तावेजों को विश्‍वसनीय मानते हुए अभियुक्‍तगण धरमसिंह, विनोद नि. ग्राम सेवखेड़ी थाना- आष्‍टा, जिला-सीहोर को धारा 354 भादवि के आरोप में 01 वर्ष सश्रम कारावास व 500 रूपये/– अर्थदण्‍ड एवं धारा 456 भादवि में 6 माह सश्रम कारावास एवं 500/- रूपये अर्थदण्‍ड से दण्डित किया गया।

शासन की ओर से पैरवी रानी जैन, सहायक जिला अभियोजन अधिकारी तह. आष्‍टा, सीहोर द्वारा की गई।