घातक हथियारों से लैस होकर बलवा कर एक-दूसरे के साथ मारपीट करने वाले 11 आरोपीयों को कठोर कारावास

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर / मनासा ;अभी तक;  श्री मनीष पाण्डेय्, न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी, मनासा द्वारा घातक हथियारों से लैस होकर बलवा करते हुए मारपीट करने वाले एक पक्ष के 04 महिलाओ सहित कुल 09 आरोपीगण (1) कंवरलाल पिता भंवरलाल कछावा, उम्र-50 वर्ष, (2) रामप्रसाद पिता भंवरलाल, उम्र-55 वर्ष, (3) महेश उर्फ मनीष पिता हंसराज कछावा, उम्र-40 वर्ष, (4) हंसराज पिता चंपालाल कछावा, उम्र-65 वर्ष, (5) देवकिशन पिता हंसराज कछावा, उम्र-45 वर्ष, (6) शंभूडीबाई पति रामप्रसाद, उम्र-60 वर्ष, (7) धापूबाई पति हंसराज कछावा, उम्र-55 वर्ष, (8) रामकन्याबाई उर्फ कवरीबाई पति कंवरलाल कछावा, उम्र-50 वर्ष तथा (9) उषाबाई पति देवकिशन, उम्र-36 वर्ष, सभी निवासीगण-काछी मोहल्ला, थाना व कस्बा कुकडेश्वर, जिला नीमच को भारतीय दण्ड संहिता, 1860 की धारा 323/149, 148/149 के अंतर्गत 06-06 माह के कठिन कारावास एवं कुल 900-900रू. जुर्माने से दण्डित किया तथा दूसरे पक्ष के 02 आरोपीगण (1) गोपाल पिता भुवानीशंकर काछी, उम्र-43 वर्ष व (2) कलाबाई पति गोपाल काछी, उम्र-40 वर्ष दोनों निवासीगण-काछी मोहल्ला, थाना व कस्बा कुकडेश्वर, जिला नीमच को भारतीय दण्ड संहिता, 1860 की धारा 323/34 के अंतर्गत 03-03 माह के कठिन कारावास एवं कुल 600-600रू. जुर्माने से दण्डित किया
श्री विवेक कुमार गोयल, एडीपीओ द्वारा घटना की जानकारी देते हुुए बताया कि घटना 09 वर्ष पूर्व की होकर दिनांक 12.10.2012 को शाम के लगभग 7ः30 बजे काछी मोहल्ला, कुकडेश्वर की हैं। एक पक्ष के 09 आरोपीगण घटना दिनांक को घातक हथियार दराता, कुल्हाड़ी व पत्थर लेकर आये तथा दूसरे पक्ष के 02 आरोपीगण से खेत की मेड़ पर मक्के की पिण्डीया को जमाने की बात को लेकर विवाद करने लगे तथा दोनों पक्षो द्वारा एक दूसरे के साथ मारपीट कर आपस में एक दूसरे को चोटे पहुंचाई। दोनों पक्षो द्वारा एक-दूसरे के विरूद्ध घटना की रिपोर्ट पुलिस थाना कुकडेश्वर में की गई। जिस पर से दोनों पक्षो के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना करते हुए आहतगण का मेडिकल कराने एवं चश्मदीद साक्षियों के बयान लेने के उपरांत अभियोग पत्र मनासा न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। विचारण के दौरान एक पक्ष के आरोपी राकेश पिता रामप्रकाश कछावा की मृत्यु हो जाने से शेष आरोपीगण के विरूद्ध विचारण जारी रहा।
विचारण के दौरान अभियोजन की ओर से न्यायालय में दोनों पक्षों के फरियादी, आहतगण व चश्मदीद साक्षीगण सहित सभी आवश्यक गवाहों के बयान कराकर दोनों पक्षो के आरोपीगण द्वारा एक-दूसरे के साथ घातक हथियारों से सुसज्जित होकर बलवा कर मारपीट किये जाने के अपराध को प्रमाणित कराकर आरोपीगण को कठोर दण्ड से दण्डित किये जाने का निवेदन किया। माननीय न्यायालय द्वारा एक पक्ष के 09 आरोपीगण को धारा 148/149 भारतीय दण्ड संहिता, 1860 के अंतर्गत 06-06 माह का कठोर कारावास व 300-300 रूपये जुर्माना एवं धारा 323/149 भारतीय दण्ड संहिता, 1860 के अंतर्गत 03-03 माह का कठोर कारावास एवं 600-600 रूपये जुर्माने से दण्डित करते हुए जुर्माने की राशि में से 300-300रू प्रतिकर दोनों आहतगण को प्रदान करने का आदेश भी दिया। इसी प्रकार दूसरे पक्ष के 02 आरोपीगण को लकडी से शंभूडीबाई व राकेश के साथ मारपीट किये जाने कारण धारा 323/34 भारतीय दण्ड संहिता, 1860 के अंतर्गत 03-03 माह का कठोर कारावास व कुल 600-600 रूपये जुर्माने से दण्डित करते हुए जुर्माने की राशि में से 300-300रू प्रतिकर दोनों आहतगण को प्रदान करने का आदेश भी दिया। न्यायालय में शासन की ओर से पैरवी श्री विवेक कुमार गोयल, एडीपीओ द्वारा की गई।