चंबल तट पर तीन दिवसीय महोत्सव आयोजित किया जाएगा

भिण्ड से डा रवि शर्मा

भिंड २६ अक्टूबर ;अभी तक; तीन दिवसीय महोत्सव की तैयारियों के संबंध में सेव बर्ड-सेव वल्र्ड टीम के सदस्य एवं अद्भुत तथा मोहक चित्र उकेरने वाले राष्ट्रीय कलाकार वाजिद खान ने किया चंबल का दौरा अटेर के चंबल तट पर तीन दिवसीय महोत्सव आयोजित किया जाएगा। कार्यक्रम की तैयारियों के संबंध में सेव बर्ड- सेव वल्र्ड टीम के सदस्य एवं मोहक व अद्भुत चित्र उकेरने में प्रख्यात कलाकर वाजिद खान ने 26 अक्टूबर को चंबल तट पर पहुंचकर आबोहवा का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने चंबल का साफ सुथरा पानी देख चुल्लू में भरकर कुछ घूंट पानी भी पिया। बाद में चंबल की मिट्टी को वह अपने साथ भी ले गए।

यहां बता दें कि विश्व पटल पर अटेर के चंबल ही नहीं बल्कि अन्य प्रकार की छिपी हुई कलाकृतियों एवं राष्ट्रीय धरोहरों को पहचान दिलाने के उद्देश्य से तीन दिवसीय चंबल महोत्सव आयोजित किए जाने की तैयारी की जा रही है। कार्यक्रम आयोजित किए जाने की सोच पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह की है जिन्होंने तमाम संभावनाएं देखने के उपरांत राष्ट्रीय कलाकार वाजिद खान को आमंत्रित किया। स्पोट्समेन राधे यादव एवं मप्र पर्यटन समिति सदस्य अशोक सिंह तोमर के साथ कलाकार वाजिद खान ने बताया कि चंबल के रूप में भिण्ड के लोगों को अनमोल धरोहर मिली है जिसे वैश्विक स्तर पर पहचान दिलाने की जरूरत है।

कहानियों में भिण्ड डराता है जबकि असल भिण्ड बहुत खूबसूरत है

मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले के निवासी वाजिद खान ने बताया कि उन्होनंे विश्व केे 40 देशों का भ्रमण किया है, रेगिस्तान भी देखा, नदियां भी देखी, पहाड भी देखे लेकिन सब चीजों को एक साथ नहीं देखा जो चंबल में है। उन्होंने बताया कि कहानियों में जिस तरह भिण्ड को बताया जाता है उसके चलते मेरे परिवार के सदस्य साथ आ रहे थे लेकिन रास्ते में ही वापिस लौट गए। जबकि यहां आकर उन्होन देखा तो न केवल भिण्ड कर आबोहवा रमणीक है, बल्कि लोग भी बेहद मोहब्बत रखने वाले हैं। इसलिए असल भिण्ड बेहद खूबसूरत है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *