चंबल नदी में नहाने गए चाचा भतीजे नदी में डूबे

 भिंड से रवि शर्मा
 भिंड ३ सितम्बर ;अभी तक; जिला मुख्यालय से 20 किलोमीटर दूर चंबल नदी में नहाने गए चाचा भतीजे नदी में नहाने के दौरान 42 वर्षीय चाचा के साथ उनका भतीजा 22 वर्षीय नदी के पानी में डूब गए । इस दौरान 22 वर्षीय भतीजे ने नदी के पानी में तैर कर अपनी जान बचा ली जबकि चाचा का 18 घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन उपरांत भी सुराग नहीं लग रहा है ।
               पुलिस अनुसार ग्राम रानीपुरा निवासी भूपेंद्र सिंह भदौरिया पुत्र शिव शिव सहाय भदोरिया अपने भतीजे मंगल सिंह भदोरिया के साथ नहाने के लिए चंबल नदी पर गए थे बता दें कि रानीपुरा गांव से चंबल नदी करीब 600 मीटर की दूरी पर है बताया गया है की दोनों एक साथ पानी में उतरे थे इस दौरान दोनों गहराई में पहुंचने के बाद डूबने लगे ऐसे में मंगल सिंह तैरकर किनारे लग गया जबकि उसका चाचा भूपेंद्र सिंह भदौरिया पानी से बाहर नहीं निकल पाया मंगल सिंह ने घटना की जानकारी अन्य ग्रामीणों को दी उसके पश्चात पुलिस को इसकी सूचना दी गई पुलिस वालों ने मौके पर पहुंचकर गोताखोरों की मदद से रेस्क्यू शुरू कराया परंतु रात और अंधेरा होने पर रेस्क्यू बंद कर आना पड़ा फिर दूसरे दिन 2 अगस्त की सुबह से दोबारा रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया और शाम 7:00 बजे तक रेस्क्यू के बावजूद भूपेंद्र सिंह नहीं मिल पाया ग्रामीणों द्वारा बताया गया की चंबल नदी में अत्याधिक संख्या में मगरमच्छ भी है ग्रामीणों के अनुसार भूपेंद्र को मगरमच्छों का शिकार भी हो सकता है बरहाल जैसे कि तीसरे दिन भी चलाने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों ने कहा चंबल नदी के जिस घाट पर भूपेंद्र सिंह अपने भतीजे सहित नदी में डूबे हैं उसी घाट पर 4 साल पूर्व इसी गांव यानी रानीपुरा गांव के ही एक 20 वर्षीय इंजीनियर छात्र की भी मौत हो गई थी हालांकि उसका शव रेस्क्यू ऑपरेशन उपरांत मिल गया था अधिकारियों के अनुसार शुक्रवार को फिर से रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जाएगा