चंबल पुल के ज्‍वॉइंटर पर उखडी एप्रोच रोड में निकले सरिया

भिंड से डॉ रवि शर्मा

भिंड २८ अगस्त ;अभी तक; चंबल नदी पर यूपी की सीमा मैं आरटीओ चेकिंग के कारण हर दूसरे दिन लग रहे जाम से पुल पर दबाव बढ़ रहा है। पुल के ज्वाइंटर पर एप्रोच रोड में सरिया उभर आए है। जिससे दोनों तरफ के स्‍लैब  के बीच गेफ बढ़ रहा है। खतरे को भांपते हुए नेशनल हाईवे 92 सेतु निगम के एई सुभाष चंद्र शर्मा ने इटावा (उ.प्र.) प्रशासन को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि 35 टन वजन की क्षमता वाले पुल पर हजारों टन दबाव बढ़ रहा है जो खतरनाक भी हो सकता है।

सेतु निगम ने इटावा (उ.प्र.) कलेक्टर और एसपी को अवगत कराते हुए कहा है कि पुल के पास लगे चेकिंग पॉइंट को हटाकर उदी मोड़  इटावा (उ.प्र.) पर लगाया जाए। जिससे चंबल पुल पर दबाव कम हो जाए इस संबंध में भिंड कलेक्टर वीरेंद्र सिंह रावत ने भी इटावा (उ.प्र.) प्रशासन को लेटर लिखा है। साथ ही फोन पर भी लगातार जाम की समस्या से निबटने पर सहमति बनाई जा रही है .

बता दें कि चंबल पुल का निर्माण वर्ष 1969 में किया गया था जिसके बाद यह कुल 5 बार क्षतिग्रस्त की स्थिति में पहुंचा था जिससे मार्ग पर यूपी के लिए आवागमन बंद हो गया पिछले 3 महीने से पुल जाम की समस्या बढ़ गई है जिससे वाहनों के लिए खतरा बढ़ रहा है पुल पर क्षमता से अधिक भार चंबल पुल पर क्षमता से अधिक बार पड़ गया है जब भी जाम की स्थिति बनती है पुल के ऊपर 20 से 25 टन ओवर लोड वाहन खड़े हो जाते हैं। इस दौरान भय रहता है कि पुल से कोई बड़ा हादसा ना हो जाए सेतु निगम के एई शर्मा ने बताया है कि इटावा (उ.प्र.) प्रशासन गोकुल की सलामती के लिए चेकिंग पॉइंट बदलने को कहा गया है। क्योंकि चेकिंग की वजह से चालक अपने वाहनों को पुल पर खड़ा करके चले जाते हैं। पुल की सुरक्षा को ध्यान में देते देते हुए क्षमता से अधिक दबाव दिया गया तो आगे यह हादसे का रूप ले सकता है प्रशासन से बात कर रहे हैं हम जाम की समस्या और पुल की स्थिति को लेकर लगातार इटावा (उ.प्र.) प्रशासन से बात कर रहे हैं। जल्दी कोई ना कोई हल निकाल लिया जाएगा वीरेंद्र सिंह रावत कलेक्टर भिंड (म.प्र.)।

 

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *