चार दिन नेटवर्क बंद, किसान हो रहे परेशान, नहीं आ रहे मैसेज, नेटवर्क की आंख मिचौली से शासकीय कार्य समेत अन्य कार्य भी हो रहे प्रभावित

11:39 pm or December 26, 2021

नारायणगंज से प्रहलाद कछवाहा

मंडला 26 दिसबंर ;अभी तक;  भारत दूरसंचार निगम द्वारा डोंगर मंडला और घुघरी क्षेत्र के लोगों को सेवा देने के लिए लाखों रुपए खर्च कर रहा है। जिसके लिए यहां बीएसएनएल मोबाइल टावर लगाया गया है। बावजूद इसके उपभोक्ताओं को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। डोंगर मंडला में सिर्फ बीएसएनएल का एक ही टावर है, जो जब चाहे बंद हो जाता है। फिलहाल चार दिन यहां नेटवर्क नहीं है। जिससे उपभोक्ताओं का एक दूसरे से संपर्क टूट गया है। क्षेत्र के उपभोक्ताओं की मानें तो बीएसएनएल टावर सफेद हाथी साबित हो रहा है। क्षेत्र में लैंडलाइन, ब्रॉडबैंड और मोबाइल सेवाएं पूरी तरह से ठप्प है। बीएसएनएल की सेवाओं में खराबी की वजह से शासकीय विभागों में भी कई काम पेंडिंग पड़े हुए हैं।
बताया गया कि मोबाइल से लेकर ब्रॉडबैंड की सुविधाएं ठप्प पड़ी है। यहां ध्यान देने वाला कोई नहीं है। यहां के कार्यालय में जिम्मेदार अधिकारी कर्मचारी हमेशा नदारत रहते है। जिसके कारण उपभोक्ताओं की परेशानी दुगनी हो जाती है। यहां समस्या सुनने वाला ही कोई नहीं मिलता। इस बात की शिकायत कई बार विभाग के आला अधिकारियों से भी की जा चुकी है लेकिन व्यवस्था सुधारने में कोई रुचि नहीं ले रहा है।   क्षेत्र में सबसे ज्यादा परेशानी लोगों को बैंक और आधार सेंटर में हो रही है। लिंक फेल होने के कारण लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके साथ ही पंजीयक कार्यालय में भी जमीनों की रजिस्ट्रियां तक नहीं हो पा रही है। इतना ही नहीं लैंडलाइन पर कॉलिंग के दौरान अक्सर बीच में ही आवाज आना बंद हो जाती है तो बात करते करते ही फोन कट जाता है।  बीएसएनएल का नेटवर्क ही नहीं मिल रहा है।

किसान हो रहे परेशान :

बताया गया कि डोंगर मंडला क्षेत्र में बीएसएनएल नेटवर्क के सबसे ज्यादा उपभोक्ता है। जिसमें किसान भी शामिल है। विगत कुछ दिनों से नेटवर्क की आंख मिचौली से किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। फिलहाल धान खरीदी की जा रही है। जिले में करीब 40 हजार किसानों का पंजीयन किया गया है। जिसमें 30 हजार किसानों ने अपनी धान केन्द्रों तक लेकर पहुंचे है। अभी भी 10 हजार किसान खरीदी केन्द्र नहीं पहुंच पाए है। बता दे कि ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकत्तर किसानों के पास बीएसएनएल के मोबाईल है। जहां नेटवर्क की समस्या है, वहां किसानों तक धान खरीदी केन्द्र से एसएमएस नहीं पहुंच पा रहा है। जिसके कारण अधिकत्तर किसान परेशान है।

शासकीय कार्य प्रभावित:

बीएसएनल नेटवर्क की आंख मिचौली के कारण शासकीय काम प्रभावित हो रहे हैं। नेटवर्क का आना जाना लगा रहता है। जिसके चलते इंटरनेट सेवा बंद हो रही है। जिसके कारण शासकीय दफ्तरों में काम लेकर जाने वाली ग्रामीण को अनावश्यक भटकना पड़ता है। समस्याओं को देखते हुए लाइन चालू करने की मांग लगातार की जा रही है। विभाग के अधिकारियों से लेकर जनप्रतिनिधियों से गुहार लगा चुके हैं बावजूद इसके इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।  उपभोक्ता काफी परेशान हो चुके हैं। वहीं समस्याओं के समाधान नहीं किए जाने के कारण लोगों को विभाग से लेकर जनप्रतिनिधियों के प्रति आक्रोश पनप रहा है

घुघरी में भी लोग हो रहे परेशान, नेटवर्क बनी परेशानी का सबब

विकासखंड घुघरी में भी आए दिन बीएसएनएल नेटवर्क बंद हो जाता है। जिससे इस क्षेत्र के लोगों को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। महिने में आधे दिन तो बीएसएनएल नेटवर्क बंद ही रहता है, जिसकी ओर विभाग का ध्यान नहीं है। इस कारण लोगों को परेशानी झेलनी पड़ रही है।
आधार अपडेट में आ रही परेशानी :
बताया गया कि विकासखंड घुघरी में भी बीएसएनएल सेवा ध्वस्त है। यहां भी अधिकतर लोग बीएसएनएल नेटवर्क के भरोसे है। यहां भी विगत दिनों से नेटवर्क नहीं है। जिससे काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। घुघरी क्षेत्र के लोग भी बीएसएनएल नेटवर्क पर निर्भर  हैं। अभी इस समय आधार अपडेट कराने के लिए लोगों की भीड़ आधार सेंटर में देखी जा सकती है। लोग दिनभर लाईन लगाकर आधार अपडेट करा रहे है। लेकिन उनकी परेशानी बीएसएनएल नेटवर्क ने और बड़ा दी है। नेटवर्क बंद होने के कारण मोबाईल में ओटीपी ना आने के कारण लोग बेहद परेशान हो रहे है।
धान खरीदी केंद्रों में आ रही दिक्कत :
धान खरीदी केंद्र में लोगों को बहुत ज्यादा दिक्कत हो रही है अभी कुछ दिनों से रजिस्टर्ड मोबाइल पर ही एसएमएस आ रहे हैं। जिनके मोबाइल पर एसएमएस आ रहे हैं उन्हीं की धान खरीदी जा रही है और जिन किसानों के पास मैसेज नहीं पहुंच रहा है, उन किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। अभी भी जिले में हजारों किसानों ने अपनी धान केन्द्रों तक नहीं ले गए है।

इनका कहना है
मेरे द्वारा पंचायत में नरेगा के अंतर्गत कार्य  किया गया है, उसका भुगतान मेरे बैंक खाते में आता है लेकिन कुछ समय से मेरे मोबाइल में मैसेज नहीं आ रहा है। यहां क्षेत्र में बीएसएनएल टावर बंद होने के कारण काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यहां आए दिन नेटवर्क की समस्या बनी रहती है।
राम कुमार धुर्वे ग्रामीण

हम रोजगार के लिए प्रतियोगी परीक्षा के लिए निकलने वाली भर्तियां भ्ररते है, जिसकी जानकारी का मैसेज हमें मोबाईल से पता चल जाता है, लेकिन क्षेत्र में नेटवर्क की समस्या होने से बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है। पहले भी बीएसएनएल के अधिकारियों से संपर्क किया गया, लेकिन इस समस्या का उचित समाधान नहीं हो पा रहा है।
अजय मरावी, ग्रामीण

क्षेत्र में यदि कोई इमरजेंसी में 108 को फोन लगाना है तो यहां नेटवर्क सबसे बड़ी समस्या है। मुसीबत के समय बीएसएनएल काम ही नहीं करता है, बीएसएनएल का नेटवर्क चाहे जब बंद हो जाता है। जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को काफी परेशानी उठानी पड़ती है। इस समस्या से जल्द निजात दिलाया जाए।
माधव आर्मो ग्रमीण

बीएसएनएल बंद होने के कारण बहुत दिक्कत का सामना हम लोगों को करना पड़ रहा है। धान बेचने में भी हमको बहुत दिक्कत आ रही  है। नेटवर्क ना होने के कारण एसएमएस ही नहीं आ पा रहा है। बीएसएनएल नेटवर्क क्षेत्र में जब चाहे गायब हो जाता है। जिसके कारण लोगों को काफी परेशानी उठानी पड़ती है।
पंच लाल साहू, छतरपुर

क्षेत्र में जब चाहे बीएसएनएल नेटवर्क बंद हो जाता है। जिससे लोगों को काफी परेशानी हो रही है। अभी आधार अपडेट भी लोगों द्वारा कराया जा रहा है। नेटवर्क के कारण आधार भी अपडेट नहीं हो पा रहा है। इसके साथ धान खरीदी केन्द्र से मैसेज भी नही आ रहा है। बीएसएनएल के अधिकारी इस ओर बिल्कुल ध्यान नहीं दे रहे है।
अमोलदास सोनवानी