चिकित्सकों व नर्सिंग स्टाफ की लापरवाही से गोहद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 2 वर्षीय मासूम बालक की मौत

भिंड से डॉ रवि शर्मा

भिंड २६ जून ;अभी तक; भिंड जिले की गोहद के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 2 वर्षीय मासूम बच्चे की इलाज के दौरान मौत हो गई । परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया है । बच्चे को 24 जून की शाम 5:30 बजे भर्ती कराया गया था । देर शाम ड्रिप औ ब्रो लूना के माध्यम से लगाए गए इंजेक्शन के बाद उसकी मौत हो गई ।

सोनू प्रजापति पुत्र अतर सिंह प्रजापति निवासी बड़ा बाजार गोहद ने पुलिस को शिकायत में बताया कि उसका बेटा प्रियांशु प्रजापति पिछले एक महीने से बीमार चल रहा था । ऐसे में 24 जून की शाम गोवर के साथ सरकारी अस्पताल में से भर्ती कराया गया था जहां डॉ वीरेंद्र सिंह के बताए अनुसार उसे वार्ड में सेवारत नर्स द्वारा ड्रिप लगाई गई । इसी दौरान ड्रिप के लिए लगाए जाने वाला कैनुला के माध्यम से उसे नर्स ने इंजेक्शन दे दिया कुछ देर बाद बच्चे को झटके आना शुरू हो गए करीब 20 मिनट बाद उसकी मौत हो गई ।

अप्रैल में गवाया था दूसरा बेटा

सोनू प्रजापति के अनुसार अप्रैल माह में उसने पत्नी को प्रसव पीड़ा शुरू होने पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जिला भिंड में अप्रैल में भर्ती कराया था जहां बच्चे के पैदा होने के बाद ही उसकी मौत हो गई थी । उस दौरान भी अस्पताल प्रबंधन द्वारा लापरवाही बरती गई थी जबकि दूसरे बच्चे की 24 जून को मौत हो गई । सोनू का आरोप है कि उसके दोनों ही बेटों की जान अस्पताल प्रबंधक की लापरवाही के कारण के चलते  गई है । पुलिस ने बच्चे को पीएम के लिए भिजवाने  के बाद मामले को विवेचना में ले लिया है ।

इस  पर कहां

मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं दोषी पाए जाने पर संबंधित के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी

डॉ अजीत मिश्रा सीएमएचओ भिंड