चिन्हित एवं सनसनीखेज प्रकरण मे 1 वर्ष की बालिका के साथ दुष्कृत्‍य करने वाले आरोपी को हुआ आजीवन कारावास

7:45 pm or November 14, 2022
विधिक संवाददाता
    इंदौर १४ नवंबर ;अभी तक;  जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्री संजीव श्रीवास्तव,  ने बताया कि दिनांक 14/11/2022 न्यायालय- श्रीमती सुरेखा मिश्रा, तेरहवें अपर सत्र न्यायाधीश एवं विशेष न्यायाधीश (पॉक्सो एक्ट) इंदौर ने थाना एम.जी.रोड के अपराध क्रमांक 367/2018 में निर्णय पारित करते हुए आरोपी सोनु बंसल को धारा 376(क) (ख) भा.दं.सं. मे आजीवन कारावास एवं धारा 363, 366 भा.दं.वि. में 7 वर्ष का सश्रम कारावास व कुल 5000 रुपये के अर्थदण्डत से दण्डित किया गया । पीडित परिवार को 2 लाख रूपये के प्रतिकर राशि शासन से दिए जाने के लिये अनुशंसा की गई । प्रकरण में अभियोजन की ओर से पैरवी विशेष लोक अभियोजक श्रीमती सुशीला राठौर एवं श्रीमती पदमा जैन एडीपीओ द्वारा की गई।
                              अभियोजन कहानी संक्षेप में इस प्रकार है कि दिनांक 29/09/18 को सूचनाकर्ता/ बालिका के पिता ने पुलिस थाना एम.जी.रोड, जिला इंदौर में आकर इस आशय की रिपोर्ट दर्ज करवाई कि वह बैंक आफ महाराष्ट्र के सामने निर्माणाधीन मल्टीं मे चौकीदारी करता है तथा उसके साथ पत्नी एवं उसकी दो लडकिया उम्र 1 वर्ष (पीडिता) व 4 वर्ष (पीडिता) रहते है, रात्रि को लगभग 2:30 बजे उसकी बडी लडकी ने उसे तथा उसकी पत्नी को जगाया और बताया कि छोटी लडकी पीडिता 1 वर्ष  नीचे डली हुई है उसे जाकर उठा लो इस पर वह तथा उसकी पत्नी दोनो उतरकर नीचे आए तो देखा कि पीडिता छोटी लडकी उम्र 1 वर्ष सीढी के पास न्युज पेपर पर जख्मी  हालत मे उल्टी पडी थी । उसे उठाकर देखा और तुरंत अपने सास ससुर को बुलाया और आटो से बच्ची को एम.व्हाय हास्पिटल ले जाकर भर्ती करवाया । किसी अज्ञात आदमी ने उसकी छोटी लडकी के साथ गलत काम करने का प्रयास किया है तथा बडी लडकी के भी कपडे उतारने लगा था, तब वह सीढी चढकर उपर आ गई थी। उसने यह सब बाते हमे बताई और उसने बताया कि जो चाचा घर आते है उन्होने यह सब काम किया। उक्त सूचना पर से अज्ञात आरोपी के विरूद्ध धारा 376 एबी, 363, 366 भा.दं.सं. व 5 एम/6 पॉक्सो एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया । विवेचना उपरांत आरोपी को गिरफतार किया गया एवं संपूर्ण विवेचना उपरांत विवेचक टी.आई चतुर्वेदी द्वारा अभियोग पत्र माननीय न्यायालय मे प्रस्तुत किया गया ।  जिस पर से आरोपी को उक्त सजा सुनाई  गई।