चोला बदलकर जादूगर बना 10 हजार का ईनामी बलात्कार का आरोपी को 15 साल बाद पुलिस ने मुजफफरपुर से किया  गिरफ्तार।

3:37 pm or June 14, 2022
मयंक शर्मा
खंडवा १४ जून ;अभी तक; पुलिस के आगे किसी का जादू नहीं चलता। जावर पुलिस ने इस कहावत को चरितार्थ करते हुए एक जादूगर को पकड़ा है। जादूगर  बिहार राज्य के मुजफफरपुर  जिले के ग्राम बाजना में शो कर रहा था, तभी पुलिस ने उसे
गिरफ्तार कर लिया। जादूगर पर दुष्कर्म का प्रकरण दर्ज है।
                जावर थाना प्रभारी शिवराम जाट, ने बताया कि करीब 15 साल से आरोपी फरार था। पुलिस अधीक्षक ने उस पर दस हजार रुपये का इनाम भी रखा था। श्री जाट ने बताया कि  कोर्ट ने उसका स्थाई वारंट जारी किया था।  पुलिस लगातार उसकी तलाश में थी, लेकिन उसका कहीं भी पता नहीं चल सका। इस बीच सायबर सेल की टीम को उसके बारे में सुराग मिलने से पुलिस उस तक पहुंच गई। सायबर सेल प्रभारी निरीक्षक गणपत कनेल,  की विशेष भूमिका रही।
                 उन्होने बताया कि ग्राम सुरगांव बंजारी में 16 वर्षीय युवती  के साथ शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने के मामले में 2007 में अरोपी नानकराम, पिता रामेश्वर निवासी सुरगांव बंजारी पर प्रकरण दर्ज है। इस मामले में जावर पुलिस ने नानकराम को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। कुछ दिन बाद ही उसे कोर्ट से जमानत मिल गई थी, तब से नानकराम फरार हो गया था। करीब 15 साल बाद रविवार को पुलिस के हाथ लग सका है। आरोपी मेले में जादू दिखा रहा था।
                 थानाप्रभार ने बतायाकि आरोपी जमानत पर छूटने केे बाद: नानकराम खंडवा से भागकर बिहार राज्य के मुजफ्फरपुर चला गया। यहां उसने अपना नाम महाकाल जादूगर आरके सम्राट रख लिया था। वह मेलों में शो कर लोगों को जादू दिखाने
लगा था। सायबर सेल से उसकी लोकेशन मुजफ्फरपुर में मिलने के बाद जावर थाना प्रभारी शिवराम जाट ने एएसआइ कैलाश तिवारी सहित 3 लोगो  को मुजफ्फरपुर भेजा। यहां पिछले दो दिन से पुलिसकर्मी उसकी तलाश में लगे रहे। रविवार को
मोतीपुर थाना क्षेत्र के ग्राम बाजना में मेले के अंदर नानकराम जादू का शो करते हुए मिला।  उसे दबोच लिया गया। जावर थाना प्रभारी जाट ने बताया कि मंगलवार को उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा।