छठ घाट पर होगा सांस्कृतिक गीतों का आयोजन

मयंक भार्गव

बैतूल ९ नवंबर ;अभी तक;  लोक आस्था के महापर्व छठ पूजा की शुरुआत 8 नवम्बर से नहाय खाय के साथ हो गयी है। जिस क्रम में 9 नवंबर को खरना,10 नवंबर को डूबते सूर्य को अर्ध्य तथा 11 नवंबर को उगते सूर्य को अर्ध्य अर्पित करने साथ व्रतधारियों का 36 घण्टे का निर्जल उपवास सम्पन्न होगा। सम्पूर्ण भारत में निवासरत भोजपुरी समाज के लोगों द्वारा यह आस्था के साथ यह पर्व मनाया जाता है।

देवी जागरण की होगी प्रस्तुति

इसी तारतम्य में सारनी, पाथाखेड़ा एवं शोभापुर क्षेत्र में निवासरत समाज के लोगो द्वारा सतपुड़ा डैम सारनी, नांदिया घाट एवं शिवमन्दिर पाथाखेड़ा आदि स्थानों पर छठ मैया की पूजा की जाती है। जिसके लिये नगर पालिका परिषद सारनी,पुलिस प्रशासन एवं स्वास्थ विभाग द्वारा श्रद्धालुओं के लिए समुचित इंतजाम किया हैं। इस अवसर पर भोजपुरी एकता मंच के द्वारा छठ घाट पर जबलपुर के कलाकारों द्वारा देवी जागरण,आकर्षक झांकी एवं शानदार आतिशबाजी का आयोजन किया जायेगा। और श्रद्धालुओं को नि:शुल्क जल एवं चाय का भी वितरण किया जायेगा है।

छठ के गीतों की दी जाएगी प्रस्तुति

इस वर्ष मां वैष्णो देवी जागरण गु्रप द्वारा झांकी एवं आर्केस्ट्रा ग्रुप द्वारा जागरण एवं छठी गीतो का कार्यक्रम प्रस्तुत किया जाएगा। जिसमें बनारस की मशहूर गायिका अनमोल सिंह, सविता मिश्रा सिंगर, ज्योति विश्वकर्मा जबलपुर असित विश्वास, सुनील सिंह द्वारा जागरण का कार्यक्रम प्रस्तुत किया जाएगा। इसके अलावा कार्यक्रम में झांकियां  सत्या डांस गु्रप के कलाकार मनीष कोरी द्वारा अभिनय किया जाएगा। भोजपुरी एकता मंच के जिला अध्यक्ष रंजीत सिंह, वरिष्ठ सदस्य अवधेश सिहं,कमलेश सिह,लक्ष्मण साहू, जीपी सिंह, प्रमोद सिंह, अरुन सिंह ने बताया की 10 नवंबर को सांय तीन बजे भोजपुरी गीतो का संगीतमय छठी गीत व जबलपुर की झाकी की शानदार प्रस्तुति दी जाएगी। 11 नवंबर की सुबह तीन बजे से रंगारंग कार्यक्रम के साथ शानदार आतिशबाजी कार्यक्रम रखा गया है।

डेम पर छठ घाट का किया निरीक्षण

वही भोजपुरी एकता मंच के सदस्य ने शिवमंदिर पाथाखेड़ा, सतपुड़ा डेम सारनी का निरीक्षण किया।  शिव मंदिर में तालाब का मरम्मत, साफ सफाई एवं टैंकरों से पानी भरने का कार्य युद्ध स्तर पर चालू कर दिया गया है। भोजपुरी एकता मंच ने कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए श्रद्धालुओं से अधिक से अधिक संख्या में सतपुड़ा डेम घाट सारनी पहुंचकर कार्यक्रम का आनंद उठाने एवं छठ मैया के पूजन में सहभागी बनने का आग्रह किया है।