छल-कपट से शादी रचाने वाले आरोपियों की जमानत निरस्त

प्रेम वर्मा

राजगढ़ 14 सितम्बर :अभी तक: जिले के नरसिंहगढ़ के न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी मोहित बड़के ने पुलिस थाना बोड़ा के अपराध में आज अहम फैसला करते हुए छल-कपट एवं धोखाधड़ी से शादी रचाने वाले आरोपियों की जमानत याचिका को सुनवाई के बाद खारिज कर दिया है।

सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी मनोज मिंज ने बताया कि 12 सितम्बर 2020 को सद्दाम ने पुलिस में रिपोर्ट की कि उसके जीजा ने उसको रमेश मेवाड़ा, अनिल नायक, प्रीति नायक निवासी उज्जैन से मिलवाया था जिन्होंने उज्जैन निवासी लड़की हिना से विवाह कराने के एवज में 55,000 रुपये की मांग की। जिसमें से उसने पहले 30,000 रुपये एवं बाद में 10,000 रुपये हिना के मुंह बोले मौसा रमेश को दिए थे।

जिसके बाद उसकी शादी डेढ़ माह पूर्व हिना से कराई। हिना शुरूआत में उसके साथ रहने लगी लेकिन कुछ समय बाद उज्जैन चली गई। 11सितम्बर 20 को हिना मुंह बोले मौसा रमेश, एवं अनिल, शारा, प्रीति और वर्षा के साथ आई और सभी उससे 15,000 रुपये की मांग करने लगे, और रुपये न देने पर हिना को ले जाने की धमकी देने लगे और उसके रिश्तेदार भाई रामबाबू, बहन रचना के साथ गंदी गालियां देकर मारपीट करने लगे। आरोपियों ने उससे धोखाधड़ी से रुपये लिए एवं कपट पूर्वक शादी रचाई थी।
न्यायालय ने उक्त प्रकरण को गंभीर मानते हुए आरोपियों के जमानत आवेदन पर सुनवाई कर आवेदन पत्र को खारिज कर दिया है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *