छापामार कार्यवाही की तो भाजपा नेता ने फूड सेफ्टी इंस्‍पेकटर के साथ अभद्र व्‍यवहार किया

भिण्‍ड से डॉ. रवि शर्मा-

भिंड २९ मई ;अभी तक; भिण्‍ड जिले के गोहद तहसील  के वार्ड क्रमांक 14 सती बाजार में भाजपा नेता कपिल जैन की मसाला चक्की से लिए मिर्ची, हल्दी और धनिया पाउडर के लिए सैंपल फेल हो गए हैं। ऐसे में फूड सेफ्टी ऑफिसर ने गोहद थाना में भाजपा नेता के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराई है। इन तीनों मसालों के सैंपल की जांच मिर्ची और हल्दी अनसेफ (असुरक्षित) और धनिया पाउडर अन स्टेंडर्ड (मिथ्याछाप) आया है।

यहां बता दें कि 24 फरवरी को फूड सेफ्टी ऑफिसर रीना बंसल जब गोहद के वार्ड क्रमांक 14, सती बाजार में कपिल जैन पुत्र पुखराज जैन की मसाला चक्की पर सैंपलिंग की कार्रवाई करने गई तो वहां काफी हंगामा हुआ था। कपिल भाजपा के पूर्व नगर महामंत्री रह चुके हैं। जबकि उनके चचेरे भाई विवेक जैन गोहद नगर के भाजपा मंडल अध्यक्ष है।

ऐसे में कपिल ने कार्रवाई का विरोध करते हुए अपने भाई विवेक और अन्य भाजपा नेताओं को बुला लिया, जिसमें भाजपा महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष सीमा शर्मा और जिला मंत्री अर्चना शर्मा ने फूड सेफ्टी ऑफिसर रीना बंसल को खूब खरीखोटी सुनाई। सूचना मिलने पर नायब तहसीलदार शिल्पा सिंह सेे भी उनका विवाद हुआ। बाद में एसडीएम शुभम शर्मा मौके पर पहुंचे और उन्होंने किसी तरह से मामला शांत कराया। साथ ही रीना बंसल को पुलिस सुरक्षा के बीच वहां से निकाला गया।

शिकायत पर फूड विभाग की टीम कार्रवाई करने पहुंची थी
बताया जा रहा है कि कपिल जैन की मसाला चक्की में मिलावट की शिकायत प्रशासन के पास पहुंची थी, जिसके बाद फूड सेफ्टी ऑफिसर रीना बंसल को कार्रवाई के आदेश दिए गए थे। जब वे कार्रवाई करने पहुंची तो भाजपा नेता कपिल जैन इसी बात पर गुस्सा गए कि उनकी चक्की से सैंपल क्यों लिए जा रहे हैं?, बाजार में ओर भी चक्कियां है। वहीं दो दिन पहले उनके यहां से लिए सैंपल की जांच रिपोर्ट आ गई, जिसमें सभी सैंपल फेल हुए हैं।

कार्रवाई के बाद कलेक्टर के तबादले की उड़ी थी अफवाह
इस संयोग ही कहा जाए कि भाजपा नेता के यहां हुई सैंपलिंग की कार्रवाई के दो दिन बाद 26 फरवरी को तत्कालीन भिंड कलेक्टर डॉ वीरेंद्र सिंह रावत का इंदौर तबादला हो गया। उनकी जगह सरकार ने वर्ष 2008 बेच के अफसर डॉ सतीश कुमार एस को भिंड कलेक्टर बनाकर भेजा, जो कि वर्तमान में हैं। डॉ वीरेंद्र रावत के तबादले को इस कार्रवाई से जोड़कर खूब अफवाह भी उस समय उड़ी थी। जिसे लेकर शहर में खासी चर्चा हुई थी।