छिंदवाड़ा के सरकारी कार्यालय मैं आदिवासी महिला असुरक्षित, सीएम हेल्पलाइन और एसपी से की शिकायत 

छिंदवाड़ा से महेश चांडक
छिंदवाड़ा १० सितम्बर ;अभी तक;  जिले मैं लगातार शासकीय कार्यालयो मैं पदस्थ अधिकारियो द्वारा अपने अधीनस्थ आने वाले कर्मचारियों से अभद्र व्यवहार, मारपीट या मानसिक प्रताड़ना जैसे मामलो को लेकर समय समय पर सुर्खियों में बने रहते है ऐसा ही एक मामला सामने देखने को मिला है शहर के पूर्व वनमंडल परिक्षेत्र के सहायक पद ग्रेड 3 लिपिक पद पर पदस्थ आदिवासी महिला ममता भारती ने वन परिक्षेत्र अधिकारी सुरेंद्र राजपूत के खिलाफ लगातार परेशान,बुरी नियत,अश्लील वार्तालाप और गंदे ईशारे जैसे गंभीर आरोप लगाते हुए सीएम हेल्पलाईन, मानव अधिकार और जिले के एसपी विवेक अग्रवाल से शिकायत की है
               पीड़िता ने बताया की मेरा पिछले वर्ष लावाघोघरी दक्षिण वनमंडल से स्थानांतरित होकर छिंदवाड़ा पूर्व वनमंडल परिक्षेत्र मैं हुआ था जिसके बाद से ही अधिकारी द्वारा मुझे बार बार प्रताड़ित किया जा रहा है अपने चेंबर मैं बुलाकर मुझे दस्तखत करने के चलते हाथ पकड़ लिया था,प्रताड़ित करने पर मेने थप्पड़ मर दिया था जिसके बाद से लगातार परेशान किया जा रहा है मुझे फिल्ड निरिक्षण करने साथ चलने को कहा जाता जो नियम विरुद्ध है अक्सर शराब के नशे मैं मुझे डाक लेकर घर पर बुलाया जाता है मेने कई बार अधिकारियो से शिकायत की है लेकिन कोई भी कार्यवाही अधिकारी द्वारा नहीं की गई जल्द ही जल्द इनकी गिरफ्तारी करे
   इस मामले मैं परिक्षेत्र अधिकारी सुरेंद्र राजपूत ने बताया की मेरे पास ऐसी अभी तक कोई शिकायत नहीं आई है महिला द्वारा जो आरोप लगाए जा रहे है वह बेबुनियाद है मामले की जांच होगी और गोलमोल जवाब देकर अपनी बात कही है
             परन्तु कही न कही किसी शासकीय महिला कर्मचारी द्वारा ऐसे बड़े अधिकारी पर गंभीर आरोप लगाना कहा तक उचित है अब देखना है की जिले के अधिकारी क्या कार्यवाही करते है और कितनी जल्दी सच बाहर आएगा यह तो समय ही बताएगा

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *