जनपद अध्यक्ष के पहले चरण में भाजपा 4-1 से आगे, बैतूल, मुलताई, आमला, शाहपुर में भाजपा, घोड़ाडोंगरी में कांग्रेस का कब्जा

3:17 pm or July 28, 2022

मयंक भार्गव

बैतूल २८ जुलाई ;अभी तक;  त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जनपद पंचायत अध्यक्ष-उपाध्यक्ष चुनाव के पहले चरण में बुधवार को हुए पांचों जनपद में बहुमत होने के बावजूद भाजपा 4 पर ही कब्जा कर पाई। जिले की घोड़ाडोंगरी जनपद पंचायत में स्थानीय स्तर पर गुटबाजी के चलते 25 में से 16 सदस्य जीतने के बावजूद यहां कांग्रेस के अध्यक्ष-उपाध्यक्ष चुने गए। इसके अतिरिक्त बैतूल, मुलताई, आमला और शाहपुर जनपद पंचायत में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों पदों पर भाजपा समर्थित जनपद सदस्यों ने कब्जा कर लिया। भाजपाई जनपद सदस्यों ने बैतूल में भी क्रास वोटिंग की लेकिन वे परिणाम नहीं बदल पाए। क्रास वोटिंग ने जीत का अंतर कम कर दिया है। जिला मुख्यालय की बैतूल जनपद पंचायत में भाजपा समर्थित ईमलाबाई जावरलकर अध्यक्ष, कृ ष्णा लेाखण्डे उपाध्यक्ष, मुलताई जनपद में नान्ही बाई डहारे अध्यक्ष, कमलेश रघुवंशी उपाध्यक्ष, आमला जनपद पंचायत में गणेश यादव अध्यक्ष, किशन रघुवंशी उपाध्यक्ष, शाहपुर जनपद पंचायत में शिवशंकर मवासे अध्यक्ष, रोशनी विशाल सिंह ठाकुर उपाध्यक्ष निर्वाचित हुए। वहीं घोड़ाडोंगरी जनपद में कांग्रेस के राहुल उइके अध्यक्ष एवं ज्ञानसिंह परते उपाध्यक्ष निर्वाचित हुए हैं।
बैतूल में क्रास वोटिंग के बावजूद जीती भाजपा
जिला मुख्यालय की बैतूल जनपद पंचायत में 25 में से 17 सदस्य भाजपा समर्थित जीते थे। यहां भाजपा निर्विरोध निर्वाचन का ख्वाब देख रही थी। जनपद अध्यक्ष पद अनुसूचित जाति महिला वर्ग के लिए आरक्षित होने से यहां वार्ड क्रमांक 17 बडोरा क्षेत्र से जनपद सदस्य निर्वाचित ईमलाबाई जावरलकर का अध्यक्ष बनना तय था। बैतूल जनपद से भाजपा ने अध्यक्ष पद के लिए ईमलाबाई का नामांकन दाखिल किया। वहीं कांग्रेस ने जामठी क्षेत्र के वार्ड क्रं. 20 से जनपद सदस्य चुनी गई कचरा भूमरकर को प्रत्याशी बनाया। भाजपा के 17 सदस्य होने के बावजूद भाजपा प्रत्याशी को 14 वोट ही मिले। भाजपा के 3 सदस्यों ने क्रास वोटिंग की इसके बावजूद भाजपा 3 वोट से चुनाव जीत गई। कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी को 11 वोट से ही संतोष करना पड़ा। बैतूल जनपद उपाध्यक्ष के लिए भी एक वोट क्रास हुआ। भाजपा ने बारव्ही क्षेत्र के वार्ड क्रं. 19 से चुनाव जीते कृष्णा लोखण्डे को प्रत्याशी बनाया वहीं कांग्रेस ने वार्ड क्रं. 22 बढग़ी क्षेत्र से निर्वाचित लक्ष्मी शिवराज वट्टी को प्रत्याशी बनाया। भाजपा के 17 में से 16 सदस्यों ने कृष्णा लोखण्डे को वोट दिया वहीं एक क्रास वोटिंग हुई। लक्ष्मी वट्टी को 9 वोट से ही संतोष करना पड़ा और भाजपा के कृष्णा लोखण्डे ने 6 वोट से चुनाव जीतकर उपाध्यक्ष पद पर कब्जा जमाया। अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद पर चुनाव जीतने के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने जनपद कार्यालय के सामने पटाखे फोड़कर खुशियां मनाई और नवनिर्वाचित अध्यक्ष-उपाध्यक्ष को जीत की बधाई दी।
घोड़ाडोंगरी में भाजपा समर्थित 16 सदस्य होने के बावजूद हारी भाजपा
जनपद पंचायत घोड़ाडोंगरी के 25 सदस्यों में से 16 सदस्य भाजपा समर्थित जीते थे। वहीं निर्वाचन के कुछ दिन बाद निर्दलीय जनपद सदस्य चुने गए सियाराम मवासे भी भाजपा में शामिल हो गए थे। 17 सदस्य होने के बावजूद भाजपा की स्थानीय स्तर की गुटबाजी पार्टी को ले डूबी। चुनाव के बाद ही कांग्रेस पूरे जनपद क्षेत्र में सक्रिय हो गई थी। भाजपा के नेता कुछ समझ पाते जब तक अधिकतर जनपद सदस्य राजनैतिक पर्यटन पर जा चुके थे। अंतिम दिन तक भाजपा हाथ-पैर मारती रही और जीत का दावा करती रही। कांग्रेस ने अध्यक्ष पद के लिए पूर्व जिला पंचायत सदस्य एवं वार्ड क्रं. 20 सातलदेही क्षेत्र से जनपद सदस्य चुने गए राहुल उइके को प्रत्याशी बनाया वहीं भाजपा ने वार्ड 19 डुल्हारा क्षेत्र से जनपद सदस्य फगनसिंह मर्सकोले को प्रत्याशी बनाया। 17 सदस्यों वाली भाजपा को गुटबाजी ले डूबी और गुटबाजी में पार्टी ने घोड़ाडोंगरी सीट गंवा दी। यहां कांग्रेस प्रत्याशी राहुल उइके को 15 और भाजपा समर्थित फगन मर्सकोले को 10 वोट ही मिले। राहुल उइके 5 वोट से चुनाव जीतकर घोड़ाडोंगरी जनपद अध्यक्ष निर्वाचित हुए। जनपद उपाध्यक्ष के लिए भाजपा ने क्षेत्र क्रं. 21 के जनपद सदस्य प्रदीप विश्वास का नाम तय किया था। लेकिन अध्यक्ष पद पर एकतरफा हार के बाद प्रदीप विश्वास ने उपाध्यक्ष पद के लिए नामांकन ही दाखिल नहीं किया। जबकि कांग्रेस ने वार्ड क्रमांक एक झाड़कुण्ड क्षेत्र से जनपद सदस्य चुने गए ज्ञानसिंह परते का नामांकन दाखिल करवाया। भाजपा से नामांकन दाखिल नहीं होने से ज्ञानसिंह परते निर्विरोध उपाध्यक्ष निर्वाचित हुए। जिले की एक मात्र जनपद घोड़ाडोंगरी में कांग्रेस के अध्यक्ष-उपाध्यक्ष चुने जाने का कांग्रेस ने जमकर जश्र मनाया।
शाहपुर में उपाध्यक्ष के लिए कांग्रेस ने मैदान छोड़ा
जनपद पंचायत शाहपुर में अध्यक्ष पद के लिए अंतिम समय में फेरबदल करते हुए भाजपा ने वार्ड क्रं. 2 फोफल्या क्षेत्र से जनपद सदस्य चुने गए शिवकांत मवासे को प्रत्याशी बनाया। वहीं कांग्रेस ने वार्ड क्रं. 4 से निर्वाचित जनपद सदस्य सोमती बाई करोचे को प्रत्याशी बनाया। शिवशंकर मवासे 18 वोट में से 11 वोट लेकर 4 वोट से चुनाव जीत गए। वहीं सोमतीबाई को 7 वोट से ही संतोष करना पड़ा। शाहपुर में उपाध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस के मैदान छोडऩे के बाद भाजपा में ही दो दावेदार हो गए। यहां से वार्ड क्रं. 5 से सदस्य निर्वाचित रोशनी विशाल सिंह ठाकुर ने उपाध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल कर दिया। वहीं वार्ड क्रं. 12 भौंरा से सदस्य निर्वाचित सुधीर नायक भी जनपद उपाध्यक्ष का नामांकन भरने तैयार हो गए। पार्टी स्तर पर इसकी भनक लगते ही पूर्व सांसद हेमंत खण्डेलवाल आनन-फानन में शाहपुर पहुंचे। श्री खण्डेलवाल ने सुधीर नायक को पार्टी हित में समझाईश दी। तब कहीं वे नामांकन जमा करने से पीछे हटे और भाजपा समर्थित पूर्व जनपद उपाध्यक्ष रोशनी विशाल सिंह ठाकुर एक बार फिर शाहपुर जनपद पंचायत में निर्विरोध उपाध्यक्ष चुनी गई।
आमला में निर्विरोध निर्वाचित हुए अध्यक्ष-उपाध्यक्ष
जनपद पंचायत आमला में कांग्रेस ने भाजपा को वॉकओवर दे दिया। जनपद के 25 वार्डों में लगभग 19 वार्डों में भाजपा समर्थित सदस्य चुने जाने से यहां अध्यक्ष पद के लिए भाजपा के दो सदस्य वार्ड 13 से निर्दलीय गणेश यादव और वार्ड 20 से निर्वाचित किशनसिंह रघुवंशी ने नामांकन दाखिल किया था। गणेश यादव के साथ अधिकतर जनपद सदस्य होने और भाजपा नेताओं की समझाईश के बाद किशन रघुवंशी ने नाम वापस ले लिया जिससे गणेश यादव निर्विरोध निर्वाचित हो गए। भाजपा ने किशन रघुवंशी के बलिदान का ईनाम उन्हें उपाध्यक्ष बनाकर दे दिया। उपाध्यक्ष पद के लिए भाजपा से सिर्फ किशन सिंह रघुवंशी का नाम आया और वे निर्विरोध उपाध्यक्ष चुने गए।
मुलताई में नान्हीबाई अध्यक्ष, कमलेश बने उपाध्यक्ष
जनपद पंचायत मुलताई में भी भाजपा को बहुमत मिला था। यहां भाजपा के 14 और कांग्रेस के 10 सदस्य थे। अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों में कांग्रेस के एक सदस्य ने क्रास वोटिंग की जिससे भाजपा को दोनों चुनाव में 15-15 वोट मिले। अध्यक्ष पद पर भाजपा ने वार्ड 17 की सदस्य नान्हीबाई पिरथीलाल डहारे को और उपाध्यक्ष के लिए वार्ड 18 के सदस्य कमलेश सिंह रघुवंशी को प्रत्याशी बनाया। वहीं कांग्रेस ने अध्यक्ष के लिए वार्ड 16 की सदस्य अंजना जीवन डोंगरदिए और उपाध्यक्ष के लिए वार्ड 8 की सदस्य अनुराधा युवराज भिकोण्डे को प्रत्याशी बनाया। भाजपा के दोनों प्रत्याशियों को 15-15 और कांग्रेस को 9-9 वोट ही मिले। भाजपा समर्थित नान्ही डहारे 6 वोट से चुनाव जीतकर अध्यक्ष और कमलेश रघुवंशी 6 वोट से चुनाव जीतकर उपाध्यक्ष निर्वाचित हुए।