जनपद सदस्य के अपह्त बेटे को पुलिस ने ग्वालियर के होटल से कराया मुक्त,आरोपी विधायक गायब

2:24 pm or July 22, 2022

देवेश शर्मा 

मुरैना 22 जुलाई ;अभी तक;  जिले की जौरा जनपद पंचायत के नवनिर्वाचित सदस्य सम्पतिया के अपह्त बेटे को पुलिस ने कल  देर रात ग्वालियर के एक होटल से मुक्त करा दिया। अपह्त ने पुलिस थाने फिर कोर्ट में दिए बयानों में भी सुमावली विधायक अजब सिंह कुशवाह, जिला पंचायत के पूर्व उपाध्यक्ष मानवेंद्र सिंह सिकरवार और एक अन्य पर अपहरण करने के आरोप लगाए हैं। इस घटना के बाद सुमावली विधायक तो भूमिगत हैं, लेकिन दूसरे आरोपी मानवेंद्र सिंह के पिता व  कांग्रेस नेता वृंदावन सिंह सिकरवार ने मप्र भाजपा सरकार से लेकर मुरैना प्रशासन पर अरोप लगाए हैं।

                      गौरतलब है, कि बीते दिनों हुए पंचायत चुनाव में जौरा जनपद पंचायत के वार्ड 13 से मुंद्रावजा गांव निवासी सम्पतिया पत्नी परिमाल कुशवाह चुनाव जीती हैं। जनपद सदस्य चुनाव के परिणाम आने के बाद से जनपद अध्यक्ष बनाने की जोड़-तोड़ शुरू हो गई है। अध्यक्ष व उपाध्यक्ष का चुनाव 27 जुलाई को होता है, ऐसे में नवनिर्वाचित सदस्यों को अपने पक्ष में वोट कराने के लिए मनाया जा रहा है, दवाब बनाया जा रहा है, प्रलोभन दिया जा रहा है। नव निर्वाचित जनपद पंचायत सदस्य संपतिया कुशवाह को जनपद अध्यक्ष का एक दावेदार अपने साथ ले गया, इसके बाद दूसरे दावेदार का संपतिया का वोट दिलाने के लिए शनिवार की शाम सुमावली विधायक अजब सिंह कुशवाह और जिला पंचायत के पूर्व उपाध्यक्ष मानवेंद्र सिंह सिकरवार ने संपतिया कुशवाह के बेटे दरोगा कुशवाह का अपहरण कर लिया। इस मामले में जौरा थाने में सुमावली विधायक व पूर्व जिपं उपाध्यक्ष पर अपहरण का केस दर्ज हुआ और पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर दरोगा कुशवाह की तलाश में ग्वालियर में कई जगह दबिश दी। इसी दौरान ग्वालियर सिटी सेंटर स्थित होटल शुगर पाम के एक आलीशान कमरे में दरोगा कुशवाह मिला। गुरुबार  की सुबह अपह्रत दरोगा कुशवाह ने थाने और फिर कोर्ट में धारा 164 के तहत हुए बयानों में भी सुमावली विधायक अजब सिंह कुशवाह और पूर्व जिपं उपाध्यक्ष मावेंद्र सिंह के अलावा एक अन्य भोगीराम पर उसका अपहरण व बंधक बनाकर रखने के आरोप लगाए हैं। इसके बाद अजब सिंह कुशवाह व मानवेंद्र सिंह की मुश्किलें बढ़ना तय हैं।

मेरी बहू ग्वालियर महापौर बन गई, इसलिए सीएम-गृहमंत्री ने बेटे पर फर्जी एफआइआर कराई : वृंदावन सिंह सिकरवार

                           दरोगा कुशवाह के अपहरण के आरोपित पूर्व जिपं उपाध्यक्ष मानवेंद्र सिंह के पिता व वरिष्ठ कांग्रेस नेता वृंदावन सिंह सिकरवार ने इस मामले में मंगलवार की दोपहर पत्रकारवार्ता बुलाई। इसमें उन्होंने कहा कि मेरी भतीजी बहू शोभा सिकरवार ग्वालियर में महापौर का चुनाव जीत गई है। शोभा के चुनाव में मानवेंद्र सिंह ने खूब काम किया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने षडयंत्र करके मेरे बेटे मानवेंद्र पर अपहरण का फर्जी केस दर्ज करवाया है, जबकि दरोगा कुशवाह गांव में हुई कुशवाह समाज की पंचायत के बाद स्वेच्छा से सुमावली विधायक के साथ गया था। ग्वालियर के शुगर पाम होटल में दरोगा कुशवाह के साथी के नाम से ही होटल बुक था, जिसमें वह स्वेच्छा से रह रहा था। कांग्रेस नेता वृंदावन सिंह के अनुसार पुलिस ने दरोगा के भाई दीवान कुशवाह पर एफआइआर करने की धमकी देकर उससे 164 के झूठे बयान करवाए हैं। उन्होंने कहा कि मुरैना एसपी व पूरा प्रशासन भाजपा नेताओं के इशारे पर चल रहा है। वृंदावन सिंह सिकरवार ने कहा बीजेपी नेता चाहे जो कर लें, जौरा जनपद से मेरे छोटे भाई का बेटा नरेंद्र सिंह सिकरवार की जनपद अध्यक्ष का चुनाव जीतेगा।