जनप्रतिनिधि की सजगता एवं तत्काल उपचार से स्वस्थ हुआ सर्पदंश का मरीज

6:36 pm or November 2, 2022

आनंद ताम्रकार

बालाघाट २ नवंबर ;अभी तक;         यदि किसी व्यक्ति को सांप या कोई जहरीला जंतु काट ले तो उसे तत्काल पास के किसी अस्पताल में ले जाना चाहिएपीड़ित मरीज का अस्पताल में जितनी जल्दी उपचार प्रारंभ होगा उसके जीवित बचने की उतनी ही अधिक सभावना होगी। यदि पीड़ित मरीज को अंधविश्वास के चक्कर में झाड़-फूंक कराने किसी पंडा-पुजारी या ओझा गुनिया के पास ले जायेंगें तो मरीज की जान जा सकती है। ऐसा ही एक वाक्या पिछले दिनों जिले के बिरसा विकासखंड के ग्राम लटकनटोला में हुआ है। जिसमें जनप्रतिनिधि की सजगता से सर्पदंश के मरीज को अस्पताल में भर्ती कराकर उसका त्वरित उपचार कराया गया है तो वह अब स्वस्थ्य हो गया है।

        मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मनोज पांडेय ने बताया कि दिनांक 29 अक्टूबर 2022 को बिरसा विकासखंड के ग्राम रेलवाही के लटकन टोला निवासी 23 वर्षीय युवक श्री कृष्णा पिता श्री शिवप्रसाद गोंड को जहरीले सांप के कांटने की सूचना क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि श्रीमती अनुपमा नेताम सदस्य जिला पंचायत को प्राप्त होने पर उनके द्वारा तत्परता से मरीज को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र दमोह में प्राथमिक उपचार के उपरांत 108 एम्बुलेंस को बुलाकर सर्पदंश के रोगी को अविलम्ब सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बिरसा में भर्ती कराया गया।

        108 एम्बुलेंस द्वारा रोगी के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बिरसा पंहुचने पर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बिरसा में पदस्थ डॉ. मदन मेश्राम चिकित्सा अधिकारी द्वारा रोगी को अस्पताल में भर्ती कर परीक्षण करने पर पाया गया कि रोगी अर्द्धमूर्च्छित अवस्था में है तथा रोगी को सांस लेने में कठिनाई हो रही है । डॉ.मदन मेश्राम द्वारा रोगी को तत्काल एंटीस्नेक वेनम इंजेक्शन लगाया गया एवं आवश्यक उपचार प्रारंभ किया गया। क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि श्रीमती अनुपमा नेताम की सजगता एवं सहयोग तथा चिकित्सक द्वारा अविलम्ब किये गये उपचार से दिनांक 31 अक्टूबर 2022 की स्थिति में रोगी पूर्णतः स्वस्थ हो चुका है। यदि पीड़ित युवक कृष्णा को अस्पताल लाने में विलंब होता तो उसकी जान जा सकती थी।

        मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ पांडेय ने जिले के समस्त खण्ड चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया है कि सिविल अस्पताल एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के अतिरिक्त विकासखण्ड के समस्त प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी एंटीस्नेक वेनम इंजेक्शन उपलब्ध रखा जाना सुनिश्चित करें तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में पदस्थ चिकित्सक एवं नर्सिंग अधिकारियों को एंटी स्नेक वेनम लगाने के लिए प्रशिक्षित करें। ताकि सर्पदंश के रोगी को निकटतम प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में एंटीस्नेक वेनम इंजेक्शन का प्रारंभिक डोज़ देकर उच्च चिकित्सा संस्था के लिये 108 एम्बुलेंस बुलाकर रेफर किया जा सके।

        मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ पांडेय ने जिले की जनता से अपील की है कि किसी भी व्यक्ति को सांप के कांटने पर देशी, घरेलू इलाज, झाडफुंक, सरपी आदि के झांसे में न आयें और रोगी को तत्काल निकटतम प्राथमिक या सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र या सिविल अस्पताल में लेकर जावें, ताकि रोगी की स्थिति गंभीर होने के पूर्व ही एंटीस्नेक वेनम का इंजेक्शन रोगी को लगाकर तथा अन्य आवश्यक चिकित्सकीय उपचार कर रोगी का जीवन बचाया जा सके।