जादू टोने के शक में की थी तीन वर्षीय मासूम अक्षांस की हत्या

मयंक शर्मा
खंडवा २८ अक्टूबर ;अभी तक; मेरे परिवार पर बिरबट विद्या करने के कारण मेरे और मेरी पत्नि के बीच झगड़ा होना एवं घर में अशांति का माहौल था । जिसकी वजह से मैं पिछले
एक ढेड महिने से सुमेरसिंह के वंश का नाश करने का सोचकर उसके परिवार के 3 साल के मासूम की हत्या कर दी।
                 यह बात मूंदी में 20 अक्टूबर को अगुआ करने व गला घोटकर हत्या कारित करने वाले आरोपी श्रीराम  पिता जयराम बलाही उम्र 49 साल निवासी वार्ड नंबर 8
निवासी मूंदी के कबूल नामे के बाद गुरूवार को मूंदी पुलिस ने बंदी बना लिया है।
               एसपी विवेकसिंह ने अंधे कत्ल का खुलासा कर दिया है। उन्होने बताया कि  आरोपी समूरसिंह के बंश के किसी सदस्य को मारने की फिराक में था । आरोपी घटनर दिवस 20 अक्टूबर को दोपहर हम्माली कर वापस घर आया तो सुमेरसिंह का पोता अक्षांस पिता श्याम कोठारे उम्र 3 वर्ष का े घर के सामने से पैदल जाते दिखा जिसे मैंने हाथ का इशारा देकर बुलाया व गाय बांधने वाले बाड़े में ले गया । बाड़े में मैंने पानी भरने के प्लास्टिक के पाईप से अक्षांस का गला घोटकर हत्या कर दी ।
                 एसपी ने बताया कि आरोपी ने यह भी कहा कि उसने घर से टाट का बोरा व सुतली लाकर डुग्गु उर्फ अक्षांस की लाश को बोरे में भरकर सुतली से बोरे का मुंह
बांधकर उपर से प्लास्टिक की बोरी से ढक दिय तथा सोयाबीन के चारे में शव को छिपा दिया । ं घटना के बाद मोहल्ले वालो की गतिविधियाँ देखता रहा और ढुंढने का नाटक
भी करता रहा । शाम करीबन 7 बजे अंधेरे का फायदा उठाकर मैने डुग्गु उर्फ अक्षांस की लाश का बोरा पीछे के दरवाजे से ले जाकर गौरी महाराज के सुने
मकान में फेक दिया । एसपी ने कहा कि प्रकरण में उपलब्ध साक्ष्य के आधार पर आरोपी श्रीराम को गिरफ्तार कर अज्ञात हत्या के प्रकरण को उजागर किया गया है ।
            फरियादी श्याम पिता सुमेरसिंह कोठारे उम्र 33 साल निवासी बजरंग मोहल्ला अंबेडकर वार्ड मूंदी ने थाना आकर रिपोर्ट किया कि उसका नाबालिक लड़का
अक्षास उम्र 3 वर्ष को घर के पास से करीबन 1-30 से 2-30 बजे के मध्य कोई अज्ञात बदमाश बहला – फुसलाकर ले गया । इस सूचना पर थाना मूंदी में धारा 363 भादवि का केस पंजीबद्ध किया गया । प्रकरण में विवेचना के दौरान अपहृत बालक का शव एक बोरे में बंद अवस्था में गौरी महाराज के खंडहर मकान में मिला । शव को बरामद कर पीएम करवाया गया । पीएम रिपोर्ट में डाक्टर द्वारा अपहृत बालक अक्षांस की गला घोटकर हत्या करना बताया प्रकरण में धारा 302 , 201 भादवि बढ़ाई गई ।
                  एसपी ने बताया कि  चूँकि प्रकरण में कोई चक्षुदर्शी नहीं होकर अज्ञात हत्या थी अतः  जिला स्तर पर टीम का गठन किया गया तथा गठित टीम , एफएसएल
टीम व स्थानीय पुलिस द्वारा गहराई से  पडताल व रास्तों पर लगे सीसीटीवी फुटेज देखे गये एवं करीब 30-40 संदेहियों से पूछताछ की गई । पूछताछ में संदेही श्रीराम पिता जयराम बलाही उम्र 49 साल निवासी वार्ड नंबर 8 निवासी मूंदी की गतिविधियों संदेहास्पद होने से अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की गई जो सफल रही। प्रकरण में उपलब्ध साक्ष्य के आधार पर आरोपी श्रीराम को गिरफ्तार कर अज्ञात हत्या के प्रकरण को उजागर किया गया है ।