जिला अस्पताल के डॉक्टरों और नर्साे के भरोसे शुरू होगा आईसीयू

4:32 pm or June 16, 2022

मयंक भार्गव

बैतूल १६ जून ;अभी तक;  जिला अस्पताल में बने आईसीयू शुरू करने कलेक्टर द्वारा 11 चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की आउटसोर्स से भर्ती करने की स्वीकृति देने और इनका मानदेय रेडक्रास समिति से करने की सहमति मिलने के बाद आईसीयू शुरू करने का रास्ता साफ हो गया। हालांकि अभी भी आईसीयू के लिए अतिरिक्त डॉक्टर या नर्सिंग स्टाफ की नियुक्ति नहीं की गई है जिससे जिला अस्पताल में पदस्थ नर्सिंग स्टाफ और डॉक्टरों के भरोसे ही आईसीयू संचालित किया जाएगा। जिला अस्पताल में आईसीयू शुरू होने के बाद गंभीर मरीजों को रैफर करने की संख्या में कमी आएगी।

जिला अस्पताल के नवनिर्मित भवन में सेकेण्ड फ्लोर पर 20 बेड का आईसीयू बनाया गया है। जिला अस्पताल में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों और सफाई कर्मियों की कमी होने और आउटसोर्स कर्मचारियों की नियुक्ति पर रोक लगी होने से आईसीयू के लिए पर्याप्त कर्मचारी नहीं मिल पा रहे थे। इसके चलते हेण्डओव्हर होने से चार माह बाद भी आईसीयू शुरू नहीं हो पाया था। जिससे जिला अस्पताल पहुंचने वाले गंभीर मरीजों के साथ ही जिले के सभी सीएचसी और पीएचसी से जिला अस्पताल रैफर होने वाले मरीजों को जिला अस्पताल से भोपाल रैफर कर दिया जाता था। जिससे कई मशीन तो जिले के ही प्रायवेट अस्पतालों में चले जाते थे वहीं कुछ गरीब मरीज जानकारी के अभाव में भोपाल नहीं जा पाते थे। मरीजों की इस समस्या को उठाते हुए दैनिक राष्ट्रीय जनादेश ने 2 जून के अंक में आईसीयू शुरू करने सामूहिक प्रयास की जरूरत शीर्षक से समाचार प्रकाशित कर आईसीयू शुरू करने सामूहिक प्रयास करने के सुझाव भी दिए थे। जिसमें आईसीयू शुरू करने रेडक्रास समिति से आउटसोर्स कर्मचारियों के मानदेय की व्यवस्था करने एवं जिला अस्पताल सहित जिले के स्वास्थ्य महकमे से कर्मचारियों की वैकल्पिक व्यवस्था करने का भी सुझाव दिया था।

कलेक्टर ने दी आउटसोर्स कर्मचारियों की स्वीकृति

कलेक्टर अमनबीर सिंह बैस द्वारा सीएमएचओ को आईसीयू शुरू करने 11 कर्मचारियों की आउटसोर्स से भर्ती करने की स्वीकृति प्रदान कर दी गई है। जिसमें चार वार्ड ब्वाय, चार आया और तीन सफाईकर्मियों की भर्ती करने की स्वीकृति दे दी गई है। इन 11 कर्मचारियों का मानदेय रेडक्रास समिति से करने की भी सहमति दे दी गई है।

अस्पताल से होगी डॉक्टर, नर्सो की व्यवस्था

आईसीयू शुरू करने डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ की व्यवस्था जिला अस्पताल से की जाएगी। जिला अस्पताल में पदस्थ स्टाफ में से ही डॉक्टर और स्टाफ नर्स आईसीयू में 24 घंटे सेवाएं देंगे। इसके अगले दो-तीन दिन में आईसीयू का संचालन शुरू हो जाएगा। हालांकि यह सब अभी वैकल्पिक व्यवस्था है लेकिन आईसीयू शुरू होने से जिले की जनता को फौरी तौर पर राहत मिलेगी।

जिम्मेदार बोले

आईसीयू शुरू करने कलेक्टर द्वारा 11 कर्मचारियों को नियुक्त करने और कलेक्टर रेट पर रेडक्रास समिति से उनका मानदेय देने की स्वीकृति दे दी है। एक दो दिन में आउटसोर्स से कर्मचारियों की भर्ती कर ली जाएगी। जिला अस्पताल के डॉक्टर और नर्स को आईसीयू में पदस्थ कर सोमवार तक आईसीयू शुरू किया जाएगा।
डॉ. एके तिवारी, सीएमएचओ, बैतूल

कलेक्टर द्वारा आईसीयू के लिए 11 कर्मचारियों की भर्ती करने की स्वीकृति दी है। इन सभी कर्मचारियों का मानदेय अगली व्यवस्था होने तक रेडक्रास समिति से किया जायेगा।
डॉ. अरूण जयसिंहपुरे, सचिव, रेडक्रास समिति बैतूल