जिला चिकित्सालय से बच्चा चोरी होने का मामला सामने आया

7:34 pm or May 31, 2022
टीकमगढ़ से पुष्पेंद्र सिंह
टीकमगढ़ 31 मई ;अभी तक; आज यहाँ जिला चिकित्सालय से एक बच्चा चोरी होने का मामला सामने आया है।  महिला वार्ड में भर्ती पार्वती कुशवाहा के एक माह के बेटे को कोई अज्ञात बदमाश आज तड़के उस वक्त पलंग से उठा ले गया जब वह टॉयलेट गयी थी, वापस आने पर अपने मासूम के न मिलने से उसने अपने पति भोला के साथ अस्पताल प्रबंधन और पुलिस को घटना की जानकारी दी लेकिन घटना के 12 घंटे के बाद खबर लिखे जाने तक उसके बारे मे कोई सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगा है यद्यपि पुलिस कोतवाली निरीक्षक वीरेंद्र सिंह पवार ने दावा किया है कि मामले को जल्द सुलझा लिया जायगा!
                       उन्होंने बताया कि अधिक उम्र में माँ बनने के बाद पार्वती की प्रसव के बाद तवियत बिगड़ जाने से करीब महीने भर से वह अस्पताल मे भर्ती थी!टीआई पवार ने बताया कि घटना के बाद अस्पताल के सीसी टीवी फुटेज में उसी दरम्यान एक अज्ञात व्यक्ति काले बैग के साथ गेट की तरफ जाते देखा जा रहा है और उसके पीछे एक महिला तेज क़दमों से उसी तरफ जाते देखी गयी, उन्होंने कहा कि फुटेज के आधार पर उन दोनों के बारे मे जानकारी एकत्र की जा रही है।
               टीआई ने बताया कि वार्ड मे पार्वती के पलंग के पास एक कल्पना नाम की महिला भर्ती थी जो बिना किसी सूचना के अस्पताल से भाग गयी,. उन्होंने बताया कि वहाँ के रिकार्ड में दर्ज पते पर पुलिस टीम को रवाना किया गया है।  इस मामले मे पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 363के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया है ! जिला चिकित्सालय मे बच्चा चोरी का यह पहला मामला है उस घटना से अस्पताल प्रबंधन तमाम सवालों के घेरे मे हैं।
              यहाँ प्रासंगिक है कि जिला चिकित्सालय मे वार्ड वॉय, सुरक्षा गार्ड आदि के लिए  मानव संसाधन उपलब्ध कराने हेतु पिछले साल अगस्त माह में जिला चिकित्सालय द्वारा टेंडर जारी किये गये थे जिसमे करीब 27आउटसोर्स फर्मो ने रूचि लेते हुए टेंडर फार्म डाले थे लेकिन दस महीने बाद भी स्वास्थ्य बिभाग और जिला प्रशासन उस प्रक्रिया को पूरी नहीं कर सका ! इस घटना से और उस टेंडर प्रक्रिया की हीला हवाली से साबित है कि स्वास्थ्य सेवाओ के मामले में जिला प्रशासन और स्वास्थ्य बिभाग गंभीर नहीं है!