जिला जेल एवं उपजेल में स्थापित लीगल एड क्लीनिक में नियुक्त पैरालीगल वालेंटियर्स का ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम सम्पन्न

महावीर अग्रवाल
 मंदसौर १३ अक्टूबर ;अभी तक; म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के दिशानिर्देशानुसार एवं माननीय जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर श्री विजय कुमार पाण्डेय के मार्गदर्शन में दिनांक 13.10.2020 को ऑनलाइन गूगल मीट एप्लीकेशन के माध्यम से जिला जेल मंदसौर एवं उपजेल गरोठ में स्थापित लीगल एड क्लीनिक में नियुक्त पेरालीगल वाॅलेन्टियर्स का प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया।

उपरोक्त ऑनलाइन प्रशिक्षण में अपर जिला न्यायाधीश/जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री रईस खान द्वारा पैरालीगल वालेंटियर्स को सर्वप्रथम म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर से प्राप्त ’’जेल विधिक सहायता क्लीनिक एवं पैरालीगल वालेंटियर्स संबंधी हेण्ड बुक’’ को रूचिपूर्वक पढ़कर उसे समझने की सलाह प्रदान की।
तत्संबंध में श्री खान द्वारा जेल में नियुक्त पैरालीगल वालेंटियर्स को उनके कर्तव्यों से अवगत कराते हुए बताया कि उनका प्रमुख कार्य अन्य विचाराधीन एवं दोषसिद्ध बंदियों को विधिक सहायता पहुँचाने का है, अतः पी.एल.वी. में वार्तालाप क्षमता व अन्य बंदियों की समस्याओं को धेर्यपूर्वक सुनते हुए उसका निराकरण किये जाने संबंधी योग्यता होनी आवश्यक है। साथ ही यह भी जानकारी दी कि ऐसे प्रशिक्षित पैरालीगल वालेंटियर्स को जेल प्रशासन की अनुमति उपरांत साप्ताहिक तौर पर अन्य बंदीगण से मुलाकात कर उनकी विधिक समस्याओं को सुनना व समझना चाहिए और आवश्यकता पड़ने पर उनका समाधान विजिट अधिवक्तागण या विधिक सहायता प्राधिकरण के माध्यम से कराने में अहम भूमिका निभानी चाहिए और प्रशिक्षित पैरालीगल वालेंटियर्स से बंदीगण के प्रकरणों की प्रगति की जानकारी भी समय-समय पर अद्यतन रखी जाकर उन्हे उनके अपील एवं अन्य अधिकारों से अवगत कराया जाना चाहिये।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *