जिले के 925 ग्रामों में प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का होगा  क्रियान्वयन

सौरभ तिवारी
होशंगाबाद 25 सितम्बर ; अभीतक ; ;  लंबित राजस्व प्रकरणों का शीघ्र निराकरण किया जाए। राजस्व न्यायालयों में किसी भी स्तर पर 6 माह से अधिक के प्रकरण लंबित न रहे। यह निर्देश कलेक्टर होशंगाबाद नीरज कुमार सिंह  ने शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित राजस्व अधिकारियों की बैठक में सभी एसडीएम, तहसीलदार एवं नायब तहसीलदारों को दिए है।
                कलेक्टर ने सभी राजस्व अधिकारियों व विशेषकर सेवा में आए सभी नए कार्यपालक मजिस्ट्रेट को लोक शांति व कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए निहित शक्तियों/ प्रावधानों  को अच्छी तरह से समझने और उनका बेहतर उपयोग करने के निर्देश दिए। सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को निर्देशित किया गया कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में भू माफियाओं, अवैध माइनिंग, मिलावटखोरों एवं राशन वितरण में गड़बड़ी करने वालों के विरुद्ध निरंतर सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करें। बैठक में बताया गया कि जिले में 1 नवंबर से 15 नवंबर तक राजस्व अभिलेखों का शुद्धिकरण का अभियान चलाया जाएगा, इसी क्रम में 2 अक्टूबर को जिले में अभियान के रूप में सभी पटवारी द्वारा बी वन वाचन का कार्य करेंगे।
                    बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने न्यायालयवार लंबित आरसीएमएस में दर्ज प्रकरणों की विस्तार से समीक्षा की और उनके शीघ्र निराकरण के निर्देश दिए। साथ ही उच्च न्यायालय में लंबित प्रकरणों में भी शीघ्र जवाब दावा प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए।
                   बताया गया कि प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के तहत जिले के कुल 925 ग्रामों में आबादी की भूमि का सर्वे कर ग्रामीणों को अधिकार अभिलेख प्रदान किए जाएंगे। यह कार्यवाही विभिन्न चरणों राजस्व विभाग, भारतीय सर्वेक्षण विभाग एवं पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा की जाएगी। बैठक में सभी राजस्व अधिकारियों को प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के तहत की जाने वाली कार्यवाही का विस्तार से प्रशिक्षण दिया गया। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि  जिले में ग्राम संभाएं आयोजित कर प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना व उसके लाभों के बारे में ग्रामीणों को बताया जाए। साथ ही पटवारियों, ग्राम पंचायत सचिव, कोटवारों सहित संबंधित समस्त कर्मचारियों को योजना के तहत की जाने वाली कार्रवाई का प्रशिक्षण दिया जाए।
27 सितंबर को महाअभियान ,पहले डोज से कोई न छूटे
कलेक्टर श्री सिंह ने निर्देश दिए कि 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी पात्र व्यक्तियों को सूची के अनुसार डोर टू डोर सर्वे कर 27 सितम्बर को महाअभियान 4.0 में  कोविड टीके की पहली डोज लगाना सुनिश्चित करें। जिले में कोविड टीकाकरण के लिये पात्र व्यक्ति, जिसे वैक्सीन की पहली डोज देना है और उसे डोज नहीं लगी है, वह इस अभियान में न छूटे। कोरोना की पहली डोज से कोई भी पात्र व्यक्ति वंचित नहीं रहे। जिले के 18 वर्ष से अधिक आयु के शत-प्रतिशत व्यक्तियों को कोविड वैक्सीन की पहली डोज लगा दी गई है। इसको सुनिश्चित करने के बाद ही  सीएमएचओ कार्यालय को निर्धारित प्रपत्रों में  प्रमाणीकरण की जानकारी भेजें।
       बैठक में अपर कलेक्टर श्री आदित्य रिछारिया , संयुक्त कलेक्टर श्रीमती वंदना जाट, सहित सभी एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार उपस्थित रहे।