जिले में खाद की उपलब्धता बढ़ी

7:40 pm or November 13, 2021
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर १३ नवंबर ;अभी तक;  कलेक्टर श्री गोतमसिंह के निर्देश पर आज उप संचालक, किसान कल्याण तथा कृषि विकास डॉ आनंद कुमार बड़ोनिया द्वारा क्षेत्र की विभिन्न उर्वरक विक्रय दुकानों का निरीक्षण किया गया। अखबार में प्रकाशित खबर में सीतामऊ की समिति लदुना में कृषकों की भीड़ की जानकारी दी गई थी, जबकि आज लदुना समिति में यह पाया गया कि अल्प समय के लिए ही ऐसी स्थिति बनी थी। लदुना समिति में आज भी सदस्य कृषकों को 260 बोरी यूरिया का विक्रय हुआ हैं। समिति के पास आज की बिक्री के पश्चात् 56 बोरी यूरिया शेष हैं। समिति द्वारा 18 मे.टन यूरिया का आदेश भी प्राप्त कर लिया है जो शीघ्र ही समिति में भण्डारित किया जायेगा। समिति में डीएपी भी शीघ्र भण्डारित किया जा रहा हैं।
भण्डारण केन्द्र शामगढ़ से सहकारी समितियों में एनएफएल का डीएपी दिनांक      13.11.2021 को समिति अन्त्रालिया में डीएपी 15 मे.टन, बाबुल्दा में डीएपी 15 मे.टन, खेजडिया में डीएपी 25 मे.टन, शामगढ़ में डीएपी 15.750 मे.टन तथा हतुनिया समिति में यूरिया 18 मे.टन, अजयपुर समिति में यूरिया 25 मे.टन प्रदाय किया गया हैं।
सीतामऊ से प्रदाय समिति साखतली समिति में 15.300 मे.टन, लावरी समिति में 15.300 मे.टन, सेदरामाता समिति में 18 मे.टन, नागखजुरी समिति में 18 मे.टन, भगोर समिति में 18 मे.टन यूरिया प्रदाय किया गया हैं।
आज दिनांक को मल्हारगढ़ समिति में यूरिया 18 मे.टन, संजीत समिति में यूरिया 18 मे.टन, कचनारा समिति में यूरिया 18 मे.टन, बिल्लोद समिति में यूरिया 18 मे.टन, कुचडोद समिति में यूरिया 18 मे.टन तथा कचनारा समिति में डीएपी 18 मे.टन, कुचडोद समिति में डीएपी 18 मे.टन, रातीखेडी समिति में डीएपी 18 मे.टन एवं संजीत समिति में डीएपी 18 मे.टन
जिले में खाद की कमी को देखते हुऐ लगातार यूरिया एवं डीएपी की रैक उपलब्ध कराई गई हैं। जिले को यूरिया एवं डीएपी की रैक मिलने से उर्वरक की स्थिति लगातार बेहतर हो रही हैं।