जिले में टीकाकरण महाअभियान 10 नवंबर को

सौरभ तिवारी

 

होशंगाबाद ८ नवंबर ;अभी तक;   जिले के समस्त नगरीय क्षेत्रों में साफ सफाई, पेयजल, स्ट्रीट लाइट, मार्गो के रखरखाव आदि आधारभूत सुविधाओं का प्रभावी ढंग से संचालन किया जाए। इन मूल कार्यों के क्रियान्वयन में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। यह निर्देश कलेक्टर होशंगाबाद नीरज कुमार सिंह ने सभी मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को दिए हैं।

सोमवार को कलेक्ट्रेट कार्यालय के सभाकक्ष में कलेक्टर श्री सिंह की अध्यक्षता में समय-सीमा की बैठक आयोजित की गई।

बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने नगरपालिका के सभी प्रशासकों को नगर पालिका द्वारा संचालित योजनाओं एवं कार्यों की सघन मॉनिटरिंग सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि होशंगाबाद शहर के प्रमुख घाटों सहित नाले नालियों व अन्य क्षेत्रों की सघन साफ-सफाई के लिए स्वच्छता अभियान 2.0 चलाया जाए।

कलेक्टर श्री सिंह द्वारा टीकाकरण अभियान की प्रगति की ब्लॉक वार विस्तार से समीक्षा की गई। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि होशंगाबाद सहित पूरे प्रदेश में नवंबर माह की 10, 17 एवं 24 तारीख को तथा 1 दिसंबर को टीकाकरण का महा अभियान आयोजित किया जाएगा । कलेक्टर श्री सिंह ने सभी एसडीएम को अपने-अपने क्षेत्रों में सेकंड डोज के ड्यू नागरिकों के अनुसार टीकाकरण के सत्र निर्धारित करने एवं इन सत्रों पर निर्धारित लक्ष्य को शत प्रतिशत प्राप्त करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नगर पालिका,जनपद एवं महिला एवं बाल विकास विभाग के अमले के माध्यम से टीकाकरण केंद्रों पर नागरिकों का मोबिलाइजेशन सुनिश्चित करें।

कलेक्टर श्री सिंह ने जिले में खाद की उपलब्धता एवं वितरण की समीक्षा कर  कृषि विभाग ,मार्कफेड एवं अन्य संबंधित विभाग को निर्देशित किया गया कि जिले में यूरिया, डीएपी एवं अन्य उर्वरकों का सुचारू रूप से वितरण किया जाए। निर्धारित मूल्य से अधिक कीमत पर उर्वरक विक्रय करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करें।  उप संचालक कृषि श्री जे आर हेडाऊ ने बताया कि जिले में डीएपी एवं यूरिया की रैक शासन स्तर से लगातार प्राप्त हो रही है। सोमवार को बनापुरा में एक रैक डीएपी प्राप्त होगी एवं मंगलवार को एक एक रैक यूरिया इटारसी एवं बनापुरा में प्राप्त होगी, जिसका गोदामों में वितरण किया जाएगा।

कलेक्टर श्री सिंह ने सभी तहसीलदार एवं अन्य राजस्व अधिकारियों को राजस्व अभिलेखों के शुद्धिकरण कार्य में तेजी लाने की हिदायत दी। कलेक्टर श्री सिंह ने कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा को निर्देशित किया कि पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, जल संसाधन विभाग आदि विभाग द्वारा बनाए गए स्टॉप डैम के गेट 15 नवंबर तक अनिवार्य रूप से बंद किए जाएं। बैठक में सीएम हेल्पलाइन, जनसुनवाई एवं समय सीमा के प्रकरणों की भी विस्तृत समीक्षा की गई और लंबित प्रकरणों का गंभीरता से निराकरण करने के निर्देश संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिए।

बैठक में जिला पंचायत सीईओ मनोज सरियाम, संयुक्त कलेक्टर श्रीमती वंदना जाट सहित सभी विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित रहे।