जिले में पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है डीएपी सहित अन्य रासायनिक उर्वरक

दीपक कांकर

रायसेन, 14 अक्टूबर ;अभी तक;  कलेक्टर श्री अरविन्द कुमार दुबे ने बताया कि जिले में इस वर्ष डीएपी उर्वरक के साथ ही अन्य रासायनिक उर्वरक भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। साथ ही किसान भाईयों को उर्वरकों के सभी विकल्पों के बारे में भी अवगत कराया जा रहा है। जिले में पर्याप्त मात्रा में रासायनिक उर्वरक खाद उपलब्ध है तथा किसान भाईयों से बुवाई में डीएपी के स्थान पर एनपीके मिश्रित खाद एवं एसएसपी (सुपर फास्फेट) खाद उर्वरक का उपयोग करने तथा अन्य किसानों को भी इसके लिए प्रेरित करने का अनुरोध किया गया है।

कलेक्टर श्री दुबे के निर्देशानुसार उप संचालक कृषि श्री एनपी सुमन द्वारा जिले के सभी वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि सभी मैदानी अमला अपने-अपने क्षेत्र में किसानों से सतत् सम्पर्क स्थापित कर उन्हें बुवाई में डीएपी के स्थान पर एनपीके मिश्रित खाद एवं एसएसपी (सुपर फास्फेट) खाद उर्वरक का उपयोग करने की सलाह दी जाए।  डीएपी के बैग में फास्फोरस 23 किलोग्राम व नाइट्रोजन 9 किलोग्राम होता है तथा कीमत 1200 रू है। जबकि तीन किलोग्राम एसएसपी बैग व एक बोरी यूरिया की कीमत 1166 रूपए आती है और इसमें 24 किलोग्राम फास्फोरस, 24 किलोग्राम नाईट्रोजन तथा 16.50 किलोग्राम सल्फर होता है जो सरसों के तेल की मात्रा बढ़ाने का काम करता है। इसलिए डीएपी के स्थान पर त्तव की मात्रा व रूपए दोनों में ही फायदा का सौदा है। रबी मौसम वर्ष 2021-22 में डीएपी उर्वरक की आपूर्ति प्रभावित होगी, इसलिए डीएपी उर्वरक के स्थान पर एनपीके मिश्रित उर्वरक एवं सिंगल सुपरफॉस्फेट के साथ यूरिया उर्वरक का उपयोग कर सकते हैं। एनपीके उर्वरक डीएपी की तुलना में बहुत अच्छा होता है तथा इसमें तीनों तत्व नाइट्रोजन, फास्फोरस और पोटशियम पाए जाते हैं। जबकि डीएपी में सिर्फ दो तत्व नाईट्रोजन और फास्फोरस ही पाए जाते हैं।

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *